Header Ads

उत्तराखंड : गोरखा फाउंडेशन का गोरखाओं की समस्याओं के लिए एकजुट होकर संघर्ष करने का निर्णय, आरक्षण की मांग

File
बनबसा (चंपावत)। गोरखा फाउंडेशन की बैठक में गोरखा समुदाय की समस्याओं के निराकरण के लिए एकजुट होकर संघर्ष करने का निर्णय लिया गया। समुदाय के लोगों को सरकार से आरक्षण का लाभ देने की मांग रखी गई। समुदाय के सदस्यों के दो मेधावी छात्र छात्राओं को सम्मानित किया गया। देवभूमि कालेज आफ एजूकेशन के सभागार में फाउंडेशन के अध्यक्ष मोहन चंद की अध्यक्षता और त्रिलोक सोराड़ी के संचालन में हुई बैठक में समुदाय की विभिन्न समस्याओं के निराकरण पर विचार मंथन किया गया। सरकारी नौकरियों, शिक्षण संस्थाओं और राजनीतिक क्षेत्र में समुदाय को पर्याप्त प्रतिनिधित्व न मिलने पर चिंता जताई गई। बैठक में मुख्य अतिथि डॉ.जेबी चंद ने कहा कि सरकारों की उपेक्षा के चलते गोरखा समुदाय के लोग और युवा सरकारी नौकरियों के हक से वंचित हैं। विशिष्ठ अतिथि बीबी चंद ने सरकार से गोरखा समुदाय के अंतर्गत आने वाली समस्त जातियों और उपजातियों को आरक्षण की श्रेणी रखने की मांग रखी।

अध्यक्ष मोहन चंद ने बताया कि इसी वर्ष फरवरी में गोरखा फाउंडेशन का गठन किया गया है। जिसका कार्य गोरखा समुदाय की समस्याओं का निराकरण करना और सरकारी योजनाओं को समुदाय तक पहुंचाना है। इस मौके पर हाई स्कूल में सर्वाधिक 9.8 सीजीपए अंक लाने वाले छात्र हिमांशु चंद और इंटर में 97 प्रतिशत अंक लाने वाली प्रज्ञा चंद को पांच पांच हजार रुपये की नकद राशि देकर सम्मानित किया। बैठक में भूपंद्र चंद, हरीश राजा, कमला चंद, लीला चंद, भूपाल चंद, ललित चंद समेत करीब सवा सौ लोग मौजूद थे।

No comments

Powered by Blogger.