Header Ads

देहरादून : गोरखा मिलिट्री इंटर कॉलेज को सेंट्रल कमांड आर्मी कमांडर ने दी डेढ़ लाख रुपए, जनरल शक्ति गुरुंग ने पहुंचाया चेक


दीपक राई
देहरादून : राजधानी स्थित गोर्खाली समाज के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान के रूप में पहचाने वाले गोरखा मिलिट्री इंटर कॉलेज को आज सेंट्रल कमांड के आर्मी कमांडर द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की गई है। पूर्व सैन्य सचिव एवं रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल शक्ति गुरुंग ने आर्मी कमांडर द्वारा प्रदत एक लाख 50 हजार रुपए का चेक ब्रिगेडियर (रिटायर्ड) पीएस गुरूंग के हाथों गोरखा मिलिट्री इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य तक उक्त चेक को पहुंचाया। शक्ति गुरुंग के प्रयासों के कारण ही बेहद खराब हालत से गुजर रहे इस स्कूल को उक्त मदद प्रदान करने में महती भूमिका निभाई । गौरतलब है कि गोरखा मिलिट्री इंटर कॉलेज देश को कई नामी गोरखा आर्मी ऑफिसर दे चुका है। इसके अलावा कई राष्ट्रीय स्तर के फुटबॉलर भी इस स्कूल की देन रहे हैं। 1970 के दशक में भारत के नंबर वन फुटबॉलर श्याम थापा एवं लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) राम सिंह प्रधान भी इसी स्कूल के पूर्व छात्र रहे हैं। इसके अलावा इस स्कूल से सैकड़ों की संख्या में गोर्खाली समुदाय से लोग भारतीय सेना में बतौर कमीशन ऑफिसर उच्च पदों पर आसीन हुए। आज यह स्कूल आर्थिक परेशानी से जूझ रहा है, जिसके कारण इसको कई संस्था द्वारा लगातार आर्थिक मदद प्रदान की जा रही है। सन 1920 में स्थापित इस स्कूल ने 70 और 80 के दशक में जूनियर सुब्रतो कप को लगातार जीत कर रिकॉर्ड भी स्थापित किया था। आज भी स्कूल में कई छात्र अध्ययनरत है लेकिन नसीब का खेल ऐसा है कि गोर्खाली समुदाय के इस ऐतिहासिक शिक्षण संस्थान की जमीन पर सरकारी लीज समाप्त होने के बाद खतरे के बादल मंडराने लगे हैं । आज भी देहरादून समेत पूरे विश्व में रहने वाले गोरखा समुदाय इस स्कूल को अपनी यादों के साथ बड़ी फकीर से याद करता है।


No comments

Powered by Blogger.