Header Ads

दार्जिलिंग में सीनियर लीडर दिलीप घोष पर हमले से भड़की BJP, सरकार के खिलाफ पूरे बंगाल में करेगी उग्र प्रदर्शन

वीर गोरखा न्यूज नेटवर्क
दार्जिलिंग : दार्जिलिंग में भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष समेत अन्य भाजपा के वरिष्ठ नेताओं पर आज हुए हमले से भाजपा का आलाकमान काफी नाराज हो गया है । इसी मुद्दे को आगे बढ़ाते हुए राज्य इकाई अब भाजपा ममता बनर्जी की अत्याचारी नीति का खिलाफत पूरे राज्य में करने जा रही है। आज दार्जिलिंग में हुए हमले में बाल-बाल बचे दिलीप घोष के समर्थन में उतरी भाजपा ने आरोप लगाते हुए कहा कि यह पूर्ण रूप से राज्य सरकार के इशारे पर की गई एक कायराना षड्यंत्र है । जिसके तहत वह उनके प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष की हत्या करवाना चाहती थी। गौरतलब है कि आज दिलीप घोष को दार्जिलिंग में बिनॉय तामांग एवं अनित थापा के तथाकथित समर्थकों द्वारा गंभीर तरीके से मारपीट की गई। जिसमें 3 लोगों को काफी चोटें भी आई। बाद में दिलीप घोष ने इस पूरे मामले को लेकर एक पुलिस रिपोर्ट भी दर्ज कराई है, वहीं भाजपा ने आरोप लगाते हुए कहा कि यह हमला पूर्ण रुप से राज्य सरकार के निर्देशों पर घटित हुई है। उन्होंने आगे कहा कि ममता बनर्जी अपने राजनीतिक प्रतिद्वंदियों को खत्म करने पर तुली हुई है। आज ममता की ही कुटिल चालों की वजह से दार्जिलिंग में उलझने दिनों-दिन बढ़ती ही जा रही है। भाजपा ने साथ ही यह भी मांग की की इस पूरे हमला की घटना को लेकर एक स्वतंत्र जांच कराई जाए। जिसे एक स्वतंत्र एजेंसी क्रियांवयित करें। अब भाजपा को राज्य सरकार की किसी भी एजेंसी पर अब विश्वास नहीं रहा है।

भाजपा ने दार्जिलिंग SP पर भी साधा निशाना
भाजपा ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए दार्जिलिंग शहर के एसपी के ऊपर आरोप लगाते हुए उन पर दिलीप घोष की सुरक्षा में कोताही बरतने का दोषी करार दिया। भाजपा ने आगे कहा कि यह शहर के एसपी की जवाबदेही थी कि दिलीप घोष को पूर्ण सुरक्षा tमिले लेकिन एसपी ने सुबह की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की प्रेशर पॉलिटिक्स के बीच में दिलीप घोष की सुरक्षा से खिलवाड़ किया एवं उनको किसी भी प्रकार की पर्याप्त सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई। जो सुरक्षा मुहैया करवाई गई, वह भी विषम परिस्थितियों में मूकदर्शक बनी रही।

ममता सरकार के विरोध में संपूर्ण बंगाल में किया जाएगा विरोध प्रदर्शन
दिलीप घोष पर हमले के बाद अब भाजपा की नई रणनीति संपूर्ण राज्य में संगठित होकर विरोध प्रदर्शन एवं कई स्थानों पर चक्का जाम करने की है। वही राजधानी कोलकाता में भी तीन अलग-अलग स्थानों पर आज दोपहर 1:30 बजे से विरोध प्रदर्शन किया जाना तय किया है। इसके अलावा भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल 7 तारीख को महामहिम राज्यपाल से मिलकर पश्चिम बंगाल की बिगड़ती हुई कानून व्यवस्था एवं पहाड़ की वस्तुस्थिति से उनको अवगत कराएगी।


Powered by Blogger.