Header Ads

GJM अध्यक्ष बिमल गुरुंग के डंबर गुरुंग-अरी गुरुंग के विवादास्पद बयान पर JAP का धरना प्रदर्शन हुआ तेज


कालिम्पोंग : पूरे विश्व में गोरखा जाति की अखंडता के लिए कार्य करने वाले वाले दार्जिलिंग पहाड़ के इतिहास पुरुष बाबू डंबर सिंह गुरुंग व संविधान सभा में जाति का प्रतिनिधित्व कर हस्ताक्षर करने वाले अरी बहादुर गुरुंग पर गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (गोजमुमो) अध्यक्ष बिमल गुरुंग द्वारा विवादास्पद बयान देने की घटना को लेकर शुरू हुआ विवाद अब जोर पकड़ने लगा है। गुरुवार को गुरुंग द्वारा दिए उक्त बयान को केंद्र करके शनिवार कालिम्पोंग के ऐतिहासिक स्थल डंबर चौक से जन आंदोलन पार्टी के युवा ईकाई ने धरना प्रदर्शन शुरू किया। इतिहास को नहीं पढ़ने व कुछ नहीं समझने वाले गोरखा नेता द्वारा जाति के गौरव को गाली करना काफी दुर्भाग्यजनक है। देश स्वतंत्र होने से पूर्व गोरखा जाति के हितों के लिए काम करने वाले डंबर सिंह गुरुंग को गाली कर मोर्चा प्रमुख ने जाति के सुनहरे इतिहास को गलत साबित करने का प्रयास किया है। उक्त बयान से विश्व के ही गोरखाओं में गलत संदेश गया है।

गोजमुमो अध्यक्ष गुरुंग ने दिया था विवादास्पद बयान
पिछले कई दिनों से कालिम्पोंग में रह रहे गोजमुमो अध्यक्ष बिमल गुरुंग ने गोरखा जाति के पिता माने जाने वाले डंबरसिंह गुरुंग व संविधान में हस्ताक्षर करने वाले अरी बहादुर गुरुंग द्वारा गोरखा जाति के हित में थोड़ा भी काम नहीं करने बयान दिया गया था। संगठन के युवा इकाई के अध्यक्ष विशाल राई ने कहा कि शनिवार को 21 सदस्यों ने धरना शुरू किया। जिसकी संख्या आगामी दिनों में बढ़ती जाएगी।  धरना स्थल में जाप अध्यक्ष डा. हर्क बहादुर छेत्री व पार्टी के अन्य प्रतिनिधि भी मौजूद नजर आए।


Powered by Blogger.