Header Ads

1950 की मैत्री संधि पर संसोधन को लेकर भारत और नेपाल द्विपक्षीय बातचीत को अब तैयार


काठमांडू। भारत और नेपाल ने 1950 में हस्ताक्षरित शांति एवं मित्रता संधि सहित कुछ द्विपक्षीय संबंधों को अद्यतन बनाने एवं समीक्षा के लिए बातचीत की सहमति जताई है। ‘इंडिया-नेपाल एमिनेंट पर्सन्स ग्रुप’ ईपीजी की तीसरी बैठक में यह महत्वपूर्ण फैसला किया गया। यह बैठक राजधानी काठमांडू में संपन्न हुई। भारत में नेपाल के राजदूत और बैठक में शामिल नेपाली टीम के नेता भेष बहादुर थापा ने कहा कि दो दिवसीय बैठक के दौरान नेपाली और भारतीय पक्षों ने संधि और कई द्विपक्षीय मुद्दों पर गहन बातचीत की। थापा ने कहा, ‘‘बैठक के दौरान नेपाल-भारत संबंधों के संपूर्ण पहलूओं पर चर्चा की गई।’’ इस बैठक में नेपाल की ओर से भेश बहादुर थापा, नीलाम्बर आचार्य, राजन भट्टाराई और सूर्य नाथ उपाध्याय तथा भारतीय पक्ष की ओर से भगत सिंह कोश्यारी, जयंत प्रसाद, बीसी उपरेती और महेंद्र पी लामा शामिल हुए। दोनों देशों के संबंधों को लेकर बना ईपीजी एक साझा व्यवस्था है जिसमें नेपाल और भारत के विशेषज्ञ एवं बुद्धिजीवी शामिल हैं।


Powered by Blogger.