Header Ads

GJM सुप्रीमो विमल गुरूंग बोले, मुझे जान का खतरा, ममता बनर्जी की राज्य सरकार पर लगाया आरोप


कालिम्पोंग : गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के सुप्रीमों विमल गुरूंग ने शहर के टाउन हाल में आयोजित विश्व महिला दिवस पर कार्यक्रम को संबोधित करने के दौरान चौंकाने वाला बयान देते हुए कि कहा हाल ही एक मुद्दे को लेकर बार-बार कोलकाता जाना पड़ता है। कोलकाता आने-जाने के क्रम में हम पर हमला होने का डर रहता है। अगर इस बीच मुझे कुछ हो जाए, तो पहाड़ में आग लग जाएगा। इसकी पूरी जिम्मेवारी बंगाल सरकार की होगी। गोरखा जनमुक्ति नारी मोर्चा कालिम्पोंग टाउन कमेटी की ओर से विश्व महिला दिवस का आयोजन किया गया था।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पहाड़ में पेयजल की समस्या के साथ बेरोजगारी की समस्या है। बेरोजगारी के कारण युवा बाहर पलायन कर रहे है। कालिम्पोंग जिला बनने के बाद अब जिला के काम पूर्ण रूप से होने के लिए जीटीए का मुख्य कार्यालय अब यहां पर भी स्थापित किया जाएगा। जीटीए का काम अब दार्जिलिंग के लालकोठी में तीन दिन एवं कालिम्पोंग में दो दिन कार्य होगा। उन्होंने कहा कि पहाड़ में रोगकार की व्यवस्था नहीं है। सरकार पहाड़ से रोजगार देने के बदले समतल से नियुक्ति देकर लोगों को पहाड़ लाने का काम कर रहा है। इस नीति की घोर निंदा करते हुए उन्होंने पहाड़ में रोजगार के रास्ते खुलवाने की मांग की है। हाल में तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने वाले लोगों को गुरूंग ने अपने गांव के रास्ते, स्कूल आदि निर्माण कर दिखाने की चुनौती दी। कालिम्पोंग की जनता के लिए जीटीए के पक्ष से काफी कार्य हो रहे है।

उन्होंने कहा कि कालिम्पोंग में मल्टी कार पार्किंग, मॉडेल स्कुल भवन निर्माण का कार्य चल रहा है। इसी क्रम में जीटीए ने कालिम्पोंग के मेला ग्राउण्ड को स्टेडियम बनाने हेतु 143 करोड़ रुपये की योजना तैयार करने व जिसके लिए पहली किस्त में 50 करोड़ रुपये अनुमोदन करने के बावजूद सरकार की ओर से स्टेडियम निर्माण के लिए स्वीकृति पत्र नहीं मिला है। कार्यक्रम में कालिम्पोंग के बयोवृद्ध सानुमती राई, विधायकसरिता राई, अवकासप्राप्त लेफ्टिनेन्ट कर्णल शांता राई, मैराथन धाविका रोशनी राई, साक्षी सारदा दर्नाल, शोभा छेत्री, शीता तमांग, राजु नेपाली आदि को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।





- जागरण
Powered by Blogger.