Header Ads

गोरखा फुटबॉलर सुनील छेत्री के गोल के बूते भारत ने 64 साल बाद म्यांमार को उसकी सरजमीं पर हराया


यांगून। स्टार स्ट्राइकर और गोरखा फुटबॉलर सुनील छेत्री के 90वें मिनट में किए गए शानदार गोल की मदद से भारत ने मंगलवार को यहां एएफसी एशियाई कप क्वालीफायर में म्यांमार को 1-0 से हराया। भारतीय टीम इस तरह से 64 साल बाद म्यांमार को उसकी सरजमीं पर हराने में सफल रही। जब मैच ड्रॉ की तरफ बढ़ रहा था तब छेत्री ने सुपर सब उदांता सिंह के पास पर बड़ी खूबसूरती से गोल करके भारतीय खेमे में खुशी की लहर दौड़ाई। उदांता ने जवाबी हमला करते हुए बहुत अच्छा मूव बनाया था और दाएं छोर से कप्तान छेत्री को शानदार पास दिया था। छेत्री के गोल करते हुए स्टेडियम में मौजूद 20 हजार दर्शक सन्न रह गए।

छेत्री का अंतरराष्ट्रीय मैचों में 53वां गोल
फुटबॉलर छेत्री का यह अंतरराष्ट्रीय मैचों में 53वां गोल है। इससे वह एएफसी एशियाई कप यूएई 2019 क्वालीफायर के ग्रुप ए में शीर्ष पर पहुंच गया है। कप्तान सुनील छेत्री ने कहा कि यह हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण मैच था। म्यांमार को उसकी सरजमीं पर हराना हमेशा मुश्किल रहता है। हम यहां पिछली बार हार गए थे लेकिन हम आखिर तक एक दूसरे का समर्थन करते रहे और आखिर में तीन अंक हासिल करने में सफल रहे जो हमारे लिए काफी मायने रखते हैं।

12 जून को किर्गीज गणराज्य की मेजबानी करेगा भारत
भारत इसके बाद अब 12 जून को किर्गीज गणराज्य की मेजबानी करेगा और फिर छह जून को लेबनान से अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच खेलेगा। छेत्री ने मैच के शुरू में ही म्यांमार के खेमे में सेंध लगाई थी लेकिन तब एक डिफेंडर ने उनका प्रयास नाकाम कर दिया था। म्यांमार ने जल्द ही लय हासिल कर ली। पंद्रहवें मिनट में थीन थान विन और सीथु आंग ने मिलकर अच्छा मूव बनाया लेकिन अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे अनस एताथोडिका ने यह खतरा टाल दिया।

Powered by Blogger.