Header Ads

बांग्लादेश सरकार की गृह मंत्रालय को रिपोर्ट, बंगाल, असम- त्रिपुरा में घुसे 2 हजार आतंकी


कोलकाता : भारत में होने वाली आतंकी घुसपैठ को लेकर बांग्लादेश सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को एक रिपोर्ट दी है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, साल 2015 के मुकाबले 2016 में पश्चिम बंगाल, असम और त्रिपुरा की सीमाओं पर हरकत-उल-जिहादी अल-इस्लामी और जमात उल मुजाहिद्दीन बांग्लादेश के आतंकियों की घुसपैठ तीन गुना ज्यादा देखी गई। यह रिपोर्ट इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि अक्टूबर 2014 में बर्दवान जिले के खागरागढ़ में हुए ब्लास्ट की जांच में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी ने अपनी जांच पाया था कि उस ब्लास्ट के बाहरी तार जेएमबी से जुड़े हैं। रिपोर्ट में कहा है कि हुजी और जेएमबी के दो हजार से ज्यादा आॅपरेटिव इन तीनों राज्यों में घुस चुके हैं। इनमें से करीब 720 बंगाल की सीमा और बाकी 1290 संदिग्ध असम और त्रिपुरा की सीमाओं से आए हैं।

हालांकि, रिपोर्ट को लेकर बंगाल सरकार के अधिकारियों को संदेह है। लेकिन अगर यह संख्या अनुमान के आसपास है तो भी यह परेशानी की बात है क्योंकि खुफिया रिपोर्ट्स के मुताबिक साल 2014 में 800 और 2015 में 659 लोगों ने घुसपैठ की थी। बंगाल होम डिपार्टमेंट के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘हम इस रिपोर्ट की सच्चाई जानने के लिए जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं।’ असम पुलिस के अतिरिक्त मुख्य निदेशक पल्लब भट्टाचार्य ने कहा, ‘आतंकी गतिविधि में निश्चित ही बढ़ोतरी हुई है क्योंकि पिछले 6 महीने में हमने जेएमबी के 54 आॅपरेटिव को गिरफ्तार किया है।’

ISIS के बारे में सर्च करता था लापता नजीब, सीरिया जाने का शक
दिल्ली पुलिस द्वारा बरामद जेएनयू से लापता छात्र नजीब अहमद की ब्राउजिंग हिस्ट्री की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि वह खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट से जुड़ी जानकारी जुटा रहा था। गूगल और यूट्यूब द्वारा दिल्ली पुलिस को मुहैया कराई गई रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ कि लापता होने से पहले वह आईएस की विचारधारा, नेटवर्क, कार्यप्रणाली, उससे जुड़ने के तरीकों की जानकारी जुटा रहा था। यह रिपोर्ट दिल्ली हाई कोर्ट को सौंप दी गई है। अब दबे जुबान कयास लगाए जा रहे है कि शायद नजीब गैर कानूनी तरीके से सीरिया पहुँच गया हो। 

विवादित इस्लामी प्रचारक जाकिर को 30 मार्च को पेशी का आदेश
कुछ गवाहों की अहम गवाही से लैस राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने विवादित इस्लामी प्रचारक जाकिर नाइक को दूसरा नोटिस जारी कर आतंकरोधी कानून के तहत उनके खिलाफ दर्ज एक मामले में 30 मार्च को पेश होने को कहा। एनआईए के प्रवक्ता ने कहा कि जांच एजेंसी ने अब तक करीब 60 लोगों से पूछताछ की है जिनमें नाइक के परिवार के सदस्य भी शामिल है। 


Powered by Blogger.