Header Ads

14 दिवसीय इंडियन आर्मी की 9 गोरखा रायफल्स - रॉयल ओमान सेना का संयुक्त सैन्य अभ्यास संपन्न


बकलोह : हिमाचल प्रदेश के चंबा ज़िले के बकलोह में 14 दिन से चल रहा इंडो-ओमान संयुक्त सैन्य अभ्यास संपन्न हो गया। भारतीय सेना की 9वीं गोरखा राइफल्स की चौथी बटालियन और रॉयल ओमान सेना ने आतंकवादियों को मारकर सैन्य अभ्यास पूरा किया। इसमें दोनों सेनाओं ने आतंकियों को मारने, विकट परिस्थितियों से जूझने आदि का अभ्यास किया। समापन समारोह में मेजर जनरल नवीन कुमार एरी ने मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत की।

पूरी दुनिया के लिए आतंकवाद चुनौती
इस मौके पर मेजर जनरल नवीन एरी ने कहा कि आतंकवाद आज पूरे विश्व के लिए चुनौती बन चुका है, इससे निपटने के लिए दोनों सेनाओं ने संयुक्त रूप से युद्ध अभ्यास किया है। उन्होंने कहा कि इस संयुक्त अभ्यास के दौरान दोनों देशों की सेनाओं ने एक-दूसरे से काफी कुछ सीखा। उन्होंने कहा कि विकट परिस्थितियों में कैसे आतंकवादियों को मार गिराया जाता है। इस अभ्यास के तहत सिखाया गया। यह सैन्य अभ्यास छह मार्च से शुरू हुआ था।

गोरखा रायफल्स ने ज्वांइंट ट्रेनिंग को लीड किया
इससे पहले युद्ध अभ्यास जनवरी 2015 में आयोजित किया गया था। इसमें भारतीय सेना का नेतृत्व 9वीं गोरखा राइफल्स की चौथी बटालियन ने किया था। ओमान देश की रॉयल आर्मी का नेतृत्व 23 इंफेंट्री ब्रिगेड ने किया था। बता दें कि पहली बार ओमान की सेना 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस की परेड का हिस्सा बनी थी।

दोनों सेनाओं ने स्मृति चिन्ह किए भेंट
समापन समारोह में दोनों देशों की सेनाओं ने एक दूसरे को स्मृति चिन्ह भेंट किए। भारतीय सेना और रॉयल ओमान सेना के सैनिकों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी पेश किए।


Powered by Blogger.