Header Ads

इंदौर-पटना एक्सप्रेस साजिश में शामिल ISI का नेपाली मास्टरमाइंड शम्शुल होदा दुबई में अरेस्ट


काठमांडू : कानपुर के पुखरायां में इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटना का मास्टरमाइंड और मोतिहारी के घोड़ासहन में रेल ट्रैक को विस्फोट कर उड़ाने की साजिश रचने वाला आईएसआई एजेंट शम्शुल होदा को तीन अन्य आतंकियों के साथ दुबई में गिरफ्तार किया गया। भारतीय जांच एजेंसी की पहल पर दुबई से नेपाल के कलेया में लाकर विशेष टीम होदा से पूछताछ कर रही है। प्रारंभिक पूछताछ में उससे कई चौंकाने वाली जानकारी मिली है। नेपाल के मध्य रेंज के डीआईजी पशुपति उपाध्याय ने शम्शुल होदा की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। कलेया के एसएसपी अरुण कुशवाहा ने बताया कि दुबई से गिरफ्तार कर होदा को यहां लाया गया है। होदा पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम करता था। होदा अपने नेटवर्क के माध्यम से भारत के कमजोर वर्ग के युवाओं को संपर्क में लाकर और पैसे का लोभ देकर आतंकी घटनाओं को अंजाम देता था। रक्सौल-घोड़ासहन रेल ट्रैक पर बम धमाके के लिए होदा ने राजू, उमाशंकर पटेल और अरुण राम को आठ लाख रुपए दिए थे।

दो गुर्गों ने दगा दिया आैर फेल हुई आतंकी साजिश
घोड़ासाहन षड्यंत्र से लेकर कानपुर ट्रेन हादसों के ‘मास्टर माइंड’ शम्शुल होदा ने इस साजिश में दगा देने वाले अपने दो गुर्गों को मौत के घाट उतार दिया था। एनआईए की जांच में पता चला है कि घोड़ासहन के पास आईईडी से ट्रैक को उड़ाने की प्लानिंग शम्सुल ने बनाई आैर इसमें नेपाल के कल्पा निवासी एजेंट ब्रजकिशोर गिरि उसके साले शंभू के साथ मुजाहिद को शामिल किया।
 
होदा ने आतंकियों का नया नेपाली-बिहारी मॉड्यूल खड़ा किया
आईएसआई की टेरर प्लानिंग को अंजाम तक पहुंचाने के लिए शम्शुल होदा ने आतंकियों का नया नेपाली-बिहारी मॉड्यूल खड़ा किया था। इसमें नेपाल बॉर्डर से सटे रक्सौल आसपास के इलाकों के क्रिमिनल या नक्सली लिंक वाले चेहरों को आतंकी नेटवर्क में शामिल करके खौफनाक मिशन पर लगाया गया था। अब तक इससे जुड़े एक दर्जन चेहरों की स्याह सच्चाई सामने चुकी है। डीआईजी उपाध्याय ने बताया कि उसके साथ तीन और लोग पकड़े गए हैं। इनकी पहचान बृज किशोर गिरि, आशीष सिंह और उमेश कुमार कुर्मी के रूप में हुई है। सभी दक्षिणी नेपाल के कलैया जिले के हैं। इंटरपोल के सहयोग से पुलिस इन्हें दुबई से नेपाल लाई। होदा के अंतरराष्ट्रीय अपराधी संगठनों से संबंध हैं। घोड़ासहन में शम्शुल होदा ने ही प्रेशर कुकर बम लगवाया था। कानपुर रेल हादसा में भी शम्शुल होदा का कनेक्शन सामने आया है। शम्शुल का मलेशिया भी आना-जाना रहा है। 48 साल का होदा आईएसआई के इशारे पर दुबई से साजिश रचता था। उसे भारत में कई अन्य हादसों का जिम्मेदार माना जा रहा है। 

Powered by Blogger.