Header Ads

नेपाल-भारत बैठक में आर्थिक एवं विकास सहयोग परियोजनाओं की प्रगति की गई समीक्षा


काठमांडो : भारत और नेपाल ने सीमा पार रेलवे, एकीकृत जांच चौकियों और सीमा पार ट्रांसमिशन लाइनों सहित दोनों देशों के बीच आर्थिक एवं विकास सहयोग परियोजनाओं में हुई प्रगति की समीक्षा की है। विदेश सचिव शंकर दास बैरागी और नेपाल में भारत के राजदूत रंजीत राय की संयुक्त अध्यक्षता में सोमवार को ‘नेपाल-भारत निगरानी तंत्र’ की दूसरी बैठक हुई । बैठक में नेपाल और भारत के बीच आर्थिक एवं विकास परियोजनाओं में हुई प्रगति की समग, समीक्षा की गई। इस तरह की पहली बैठक काठमांडो में 29 नवंबर 2016 को हुई थी। 

यहां विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान में कहा गया कि सीमा पार रेल परियोजनाओं, एकीकृत जांच चौकियों, सीमा पार ट्रांसमिशन लाइनों, अरूण-3 और ऊपरी कर्णाली पनबिजली परियोजनाओं, पंचेश्वर बहुउद्देश्यीय परियोजना जैसे विभिन्न प्रांसगिक मुद्दों पर चर्चा की गई। बयान में कहा गया, ”बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने तंत्र की पहली बैठक के बाद से हुई प्रगति पर संतोष जताया।” नेपाल-भारत निगरानी तंत्र की स्थापना नेपाली प्रधानमंत्री प्रचंड की पिछले साल सितंबर में हुई भारत यात्रा के दौरान की गई थी, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सभी जारी द्विपक्षीय आर्थिक एवं विकास परियाजनाओं का क्रियान्वयन तय समयसीमा के भीतर हो सके। तंत्र की तीसरी बैठक काठमांडो में मार्च के अंतिम सप्ताह में होगी।


Powered by Blogger.