Header Ads

धर्मशाला : गोरखा भवन में मंत्री शर्मा ने किया मास्टर मित्रसेन थापा की मूर्ति अनावरण


धर्मशाला : मास्टर मित्रसेन थापा ने तत्कालीन गोर्खाली समाज में व्याप्त सामाजिक कुरीतियों से निजात दिलाने के लिए लोकगीत शैली में कई शिक्षाप्रद गीत रचकर जन-जन में नवजागृति का संचार किया था। यह बात शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा ने मास्टर मित्रसेन की मूर्ति अनावरण कार्यक्रम के बाद गोरखा भवन में आयोजित कार्यक्रम में कही। वर्ष 2001 में हिमाचल सरकार ने मित्रसेन संग्रहालय का निर्माण उनके निवास तोतारानी में किया गया था। कहा कि युवाओं को मास्टर मित्रसेन की रचनाओं को पढ़ना चाहिए। इस मौके पर मंत्री ने मित्रसेन की रचनाओं की पुस्तिका का विमोचन भी किया।

मंत्री ने दी गोरखा समाज को कई सौगातें
उन्होंने गोरखा भवन के सुंदरीकरण के लिए एक लाख तो सांस्कृतिक प्रस्तुति देने वाले बच्चों को ऐच्छिक निधि से 21 हजार रुपये देने की घोषणा की। साथ ही बच्चों को भी सम्मानित किया। इसके बाद मंत्री ने सुक्कड़ में 25 लाख की लागत से निर्मित होने वाले वन विभाग के निरीक्षण हट का शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हरित आवरण को बढ़ाने के लिए गत चार वर्ष में 48 हजार हेक्टेयर भूमि में पौधरोपण किया गया है।



ADM-SDM समेत गोरखा समाज के गणमान्य लोग रहे मौजूद
इस मौके पर एडीएम बलवीर ठाकुर, एसडीएम श्रवण माटा, डीएफओ प्रवीण ठाकुर, एसीएफ सन्नी, बीडीओ धर्मेश रापोत्रा, डीएसपी राजेंद्र कुमार, हिमाचल एवं पंजाब गोरखा के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह गुरुंग, प्रवक्ता आरएस राणा, शहीद मेजर दुर्गामल दल बहादुर थापा स्मृति मंच के अध्यक्ष महिंद्र सिंह कार्की, मास्टर मित्रसेन थापा की पुत्रवधू देव कन्या थापा, पौत्र अरविंद सेन थापा, हिमफेड के निदेशक श्रवण थापा, जिला फुटबॉल संघ के अध्यक्ष अरविंद्र सिंह राणा, सुक्कड़ के प्रधान ओम प्रकाश गुरुंग, रक्कड़ के उप प्रधान राजीव शर्मा, सुनील अभय, सौरभ, आयूष, अमन, अमित, अरुण, रमन, अजीत व सुभाष सहित अन्य मौजूद रहे।

Powered by Blogger.