Header Ads

दार्जिलिंग पहाड़ के बिना पश्चिम बंगाल अधूरा, सब मिलकर एकसाथ रहे : CM ममता बनर्जी


दार्जिलिंग : राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि आपस में झगड़ा करने से नहीं होगा, सबको एक साथ मिलकर रहना होगा। पहाड़ के बिना बंगाल अधूरा है। वे  दार्जिलिंग माल में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की 121 जयंती पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि मैं राज्य के हित के लिए पहाड़ व समतल को एक साथ लेकर लड़ती रहूंगी। हर कीमत पर पहाड़ में शांति चाहिए। केन्द्र सरकार की नोटबंदी के कारण पहाड़ की स्थिति खराब हो गई है। पर्यटन उद्योग को काफी नुकसान हुआ है। संकट अभी भी बरकरार है। इस बीच मुख्यमंत्री ने नेताजी की जयंती मनाने के दौरान केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने नेताजी की तस्वीर पर फूल-मालाएं अर्पित की। उन्होंने कहा कि नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की मौत की गुत्थी अब तक नहीं सुलझी है।

राज्य सरकार की ओर से नेताजी की सभी फाइलों को सार्वजनिक किया गया है। लेकिन केन्द्र सरकार ने अब तक उन फाइलों को सार्वजनिक नहीं किया है। नेताजी का जन्मदिन हमारे लिए राष्ट्रीय उत्सव के समान है। नेताजी की नीति हमेशा से ही सूर्य की तरह साफ है। उन्होंने कहा कि हर साल नेताजी की जयंती मनाने हम पहाड़ में आते है और सरकारी तौर पर इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। अगर पहाड़ के लोगों का साथ मिला तो शांतिपूर्वक यहां पर विकास होकर रहेगा। इसके साथ उन्होंने वंदे मात्रम के साथ जय ¨हद के नारे भी लगाए।


इधर नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की जयंती मनाने के दौरान मुख्यमंत्री ने 14 और नई परियोजना का शिलान्यास किया। इसके साथ उन्होंने एक बार फिर फरवरी में आकर कालिम्पोंग में जिला घोषित करने के बारे में कहा। उन्होंने गीतांजली हाउस परियोजना के तहत 300 मकान के लिए चेक देने की घोषणा की। साथ ही पहली किस्त में 52,500 रुपये का चेक प्रदान किया। वही उत्तर बंगाल स्पोर्ट्स काउंसिल को 10 लाख, खस विकास बोर्ड को 5 करोड़, गुरूंग विकास बोर्ड को 10 करोड़ रुपये एवं तराई डुवार्स विकास बोर्ड बनाने की भी उन्होंने घोषणा की। राष्ट्रीय राजमार्ग 55 और 10 को 210 करोड़ के साथ-साथ तमांग, खम्बु, लिम्बु, दमाई, सार्की, मगर, कामी एवं शेरपा बोर्ड को भी सहायता राशि प्रदान किया। इस दिन मंच पर राज्य के मुख्य सचिव बासुदेव बनर्जी, मंत्री अरूप विश्वास, विकास बोर्ड के चेयरमैन, दार्जिलिंग के विधायक अमर सिंह राई उपस्थित थे। इधर गोजमुमो ने इस दिन भी मुख्यमंत्री के कार्यक्रम से दूरी बनाए रखा।

- जागरण
Powered by Blogger.