Header Ads

गोर्खाली सुधार सभा, देहरादून में पूर्व मंत्री शर्मा ने पहनी 'गोर्खाली टोपी', पूरे जिले में वितरित होगी टोपी


वीर गोरखा न्यूज पोर्टल
देहरादून।
गोर्खाली सुधार सभा में बीते कई दिनों से निरंतर गोर्खाली टोपी वितरित की जा रही है। अब तक करीब 400 लोगों को गोर्खाली संस्कृति से जोड़ने के अभियान के तहत टोपी प्रदान की जा चुकी है। अब अगले रविवार यानी 21 जनवरी को गोर्खाली सुधार सभा परिसर, गढ़ी कैंट में टोपी वितरण का आखिरी दिन रहेगा। इसके बाद देहरादून जिले के ग्राणीण क्षेत्रों में भी जोर-शोर से गोर्खाली टोपी वितरित की जाएगी। गोर्खाली ढाका टोपी वितरण कार्यक्रम की आयोजक एवं गोर्खाली सुधार सभा, देहरादून की महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष सारिका प्रधान ने वीर गोरखा को जानकारी देते हुए बताया कि उनके अभियान का प्रयास गोर्खाली संस्कृति को राज्य में बढ़ावा मिले व गोरखाओं की विरासत और परम्परा का जगह-जगह उचित सम्मान हो सके है। उन्होंने आगे बताया कि गोरखा समाज को एकसूत्र में पिरोने के लिए ही समाज के सभी लोगों की मदद से टोपी वितरण का आयोजन किया जा रहा है। 

गोरखा समाज के अलावा इस अभियान को अन्य समाज के लोगों द्वारा भी सहयोग और सराहा जा रहा है। सभी समुदाय के विभिन्न वर्गों के लोग गोर्खाली टोपी पहनने के किए काफी उत्सुक दिखाई दे रहे है। इसी कदीन में पूर्व महानगर अध्यक्ष एवं पूर्व राज्यमंत्री लालचंद शर्मा अपने समर्थकों के साथ गोर्खाली सुधार सभा के कार्यालय पहुंचे।जहां सभा के अध्यक्ष कर्नल (सेवानिवृत) भगवान सिंह छेत्री एवं महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष सारिका प्रधान के हाथों गोर्खाली टोपी पहनी। सम्मानित सदस्यों को गोर्खाली टोपी पहनाने के लिए इस अवसर पर सूर्यबिक्रम शाह, देवेन शाही, केके शर्मा, टीकाराम पांडे, केए खान, गोविन्द थापा समेत कई सदस्य कार्यक्रम के दौरान उपस्थित रहे।



 
Powered by Blogger.