Header Ads

जनांदोलन पार्टी युवा इकाई के संयोजक विशाल राई बोले अब गोरखा समाज चुनें अपना नेतृत्व


कालिम्पोंग : जनांदोलन पार्टी ने दिल्ली में सांसद का घेराव कर सामने आए तथ्यों के आधार पर गोजमुमो के दिल्ली में हुए धरना प्रदर्शन को मात्र दिखावा करार दिया है। जाप युवा इकाई के संयोजक विशाल राई ने कहा कि मोर्चा ने गोरखालैंड के नाम पर वर्ष 2007 से 2016 तक अलग राज्य गोरखालैंड के लिए नाटक किया और जनता को मूर्ख बनाया। दिल्ली में तीन दिवसीय कार्यक्रम कर कालिम्पोंग लौटे विशाल राई ने कहा कि ना तो मोर्चा और ना ही मोर्चा समर्थित सांसद गोरखालैंड के लिए गंभीर हैं। उन्होने बताया कि सांसद ने ढाई वर्ष के कार्यकाल में नौ बार संसद में उपस्थित होकर भी गोरखालैंड की आवाज नही उठाई। वहीं दूसरी ओर गोरखा के सपने को अपना सपना बताने वाली भाजपा और पीएम भी इस विषय पर गंभीर नही हैं। 

राई ने मोर्चा पर आरोप लगाते हुए कहा कि मोर्चा ने अपनी सुविधाओं की बढ़ोत्तरी के लिए ही धरना प्रदर्शन किया। मोर्चा ने गोरखालैंड के नाम पर मात्र जीटीए और पंचायत चुनाव पर चर्चा की। राई ने कहा कि इन सभी बातों से स्पष्ट होता है कि ना तो राष्ट्रीय स्तर पर ना ही पहाड़ पर मोर्चा गोजमुमो गोरखालैंड के लिए ईमानदार है। राई ने कहा कि अपनी मांग लेकर अपने ही सांसद के पास जाने पर पुलिस उत्पीड़न करती है जो कहीं से भी न्यायसंगत नही है। राई ने जाति से अपील करते हुए कहा कि अब गोरखा जाति ही अपनी पार्टी और नेता का चयन करके आगे बढ़ेगी। ताकि जाति की बात को सही समय पर सही स्थान पर रखा जा सके। दिल्ली से कालिम्पोंग आगमन पर विशाल राई का पार्टी कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। 

Powered by Blogger.