Header Ads

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए पिस्टल किंग जीतू राई के नाम की सिफारिश


नई दिल्ली। एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाले जीतू राई के नाम की सिफारिश प्रतिष्ठित राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए की गयी है जिन्होंने पिछले दो साल में पिस्टल निशानेबाजी में शानदार प्रदर्शन किया है, हालांकि वह रियो ओलंपिक में मेडल नहीं जीत सके. भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) के सचिव राजीव भाटिया ने कहा कि हां, हमने खेल रत्न के लिये जीतू के नाम की सिफारिश की है.  भाटिया के अनुसार एनआरएआई ने महिला राइफल निशानेबाज अपूर्वी चंदेला अैर पुरूष राइफल निशानेबाज गुरप्रीत सिंह और पी एन प्रकाश के नाम की सिफारिश अर्जुन पुरस्कार के लिए की है. उनतीस वर्षीय राई पुरूषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा की विश्व रैंकिंग में तीसरे स्थान पर हैं, वह रियो में अपनी स्पर्धा में फाइनल में जगह बनाने वाले दो भारतीय निशानेबाजों में से एक थे, जिसमें से दूसरे अभिनव बिंद्रा थे. 

राई पुरूषों की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा के फाइनल में पहुंचे और आठवें स्थान पर रहे थे लेकिन वह रियो में अपनी पसंदीदा स्पर्धा 50 मीटर पिस्टल के फाइनल के लिये क्वालीफाई नहीं कर पाये थे. खेल रत्न देश का सबसे बड़ा खेल पुरस्कार है. इस साल राई ने बाकू में आईएसएसएफ विश्व कप की 10 मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में सिल्वर मेडल जीता था जबकि बैंकाक में आईएसएसएफ विश्व कप की 50 मीटर पिस्टल स्पर्धा में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था. राई 2014 में स्पेन में 51वीं निशानेबाजी विश्व चैम्पियनशिप में सिल्वर मेडल जीतकर रियो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाले पहले निशानेबाज थे. 

अगर सिफारिश को मंजूरी दी जाती है तो यह निशानेबाज 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के दिन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी से पुरस्कार प्राप्त करेगा. अभी तक सात निशानेबाजों को खेल रत्न से सम्मानित किया जा चुका है जिसमें भारत के एकमात्र व्यक्तिगत ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट अभिनव बिंद्रा भी शामिल हैं. निशानेबाजी में पिछली बार रंजन सोढ़ी ने 2012-13 में यह पुरस्कार प्राप्त किया था. महिला टेनिस स्टार सानिया मिर्जा को 2015 में इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

Powered by Blogger.