Header Ads

आतंकी बुरहान ने जिस 9 गोरखा राइफल्स के कर्नल को मारा था, उसी की बेटी ने पिता की वर्दी में किया सेना को सैल्यूट


नई दिल्ली : हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी की मौत और कश्मीर में फैले तनाव के बीच सोशल मीडिया पर कुछ ऐसा हुआ है जिसने लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींचा है। खबरों के मुताबिक, 27 जनवरी 2015 को वानी ने ही सेना की एक टुकड़ी को निशाना बनाया था। उसी वक्त दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों के साथ एनकाउंटर में 9 गोरखा राइफल्स के अफसर और उस समय 42 राष्ट्रीय राइफल्स के कमांडिंग अफसर कर्नल एमएन राय शहीद हो गए थे। राय की शहादत के बाद उनके पार्थिव शरीर के आगे उनकी बेटी द्वारा दी गई अंतिम विदाई को देखकर देशवासियों के आंसू छलक उठे थे। राय की बेटी अलका ने रोते हुए अपने पिता को आखिरी विदाई दी थी। उसने पल्टन का नारा पुकारा था- ‘होके के होई ना, होना ही परचा।’ कर्नल एमएन राय 9 गोरखा राइफल्स से थे और 42 राष्ट्रीय राइफल्स के CO थे। उन्हें 26 जनवरी को ही युद्ध सेवा मेडल मिला था। अब बुरहान के मारे जाने के बाद राय की बेटी अलका राय की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इस तस्वीर में अलका ने पिता की वर्दी पहनकर देश के सुरक्षाबलों को सैल्यूट किया है।

पिछले साल 27 जनवरी को श्रीनगर से 36 किमी दूर मिंडोरा गांव में आतंकियों के होने की खबर मिली थी। कर्नल राय इस सूचना पर अपनी टीम के साथ उस घर पर पहुंचे जहां आतंकी छुपे हुए थे। कर्नल मुनेंद्र नाथ राय को खबर मिली थी कि हिजबुल मुजाहिदीन का एक स्थानीय आतंकी अपने एक साथी के साथ वहां मौजूद है। जब इलाके की घेराबंदी हो गई तो आतंकियों में से एक के पिता और भाई ने बाहर आकर राय से कहा कि आतंकी सरेंडर करना चाहते हैं।  राय ने भरोसा कर उन्हें ऐसा करने का मौका दिया लेकिन आतंकियों ने धोखे से घर से निकलकर अंधाधुंध गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। इसके बाद, भीषण एनकाउंटर हुआ जिसमें आतंकी तो मारे गए लेकिन कर्नल एमएन राय और जम्मू कश्मीर पुलिस के हेड कांस्टेबल संजीव सिंह शहीद हो गए थे।


Powered by Blogger.