Header Ads

झारखंड गोरखा संगठन का 14वां स्थापना दिवस मनाया भानुभक्त की 202वीं जयंती

फ़ाइल फोटो
रांची : नेपाली भाषा के आदि कवि भानु भक्त आचार्य की 202वीं जयंती और झारखंड गोरखा संगठन का 14वां स्थापना दिवस मनाया गया। कार्यक्रम का आयोजन झारखंड गोरखा संगठन की ओर से किया गया। सुबह 9.00 बजे संगठन की ओर से प्रभात फेरी निकाली गई, जो जैप वन बैरक होते हुए टिकू हॉल पहुंची। गोरखा संगठन के अध्यक्ष इंद्रदीप छेत्री के नेतृत्व में सभी सदस्यों ने आचार्य को श्रद्धांजलि दी। शाम छह बजे से टिकू हॉल में सांस्कृतिक कार्यक्रम हुआ। इसमें आदि कवि के जीवन पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम का उद्घाटन पुलिस अधीक्षक सुरेश चंद्र झा ने किया। उन्होंने कहा कि जैप वन में काफी प्रतिभाएं हैं। झा ने कहा कि कवि भानु भक्त ने रामचरित मानस को नेपाली में अनुवाद कर नेपाली समाज को दुनिया में महत्वपूर्ण स्थान दिलाया। मौके पर कांग्रेस नेता आलोक दुबे ने भी भानू भक्त के जीवन पर प्रकाश डाला।

भानूभक्त ने विश्व में दिलाई नेपाली समाज को पहचान
झारखंड गोरखा संगठन के अध्यक्ष इंद्रदीप छेत्री ने कहा कि भानू भक्त आचार्य गोरखा समाज के प्रेरणा स्रोत हैं। उन्होंने पूरे विश्व में नेपाली समाज को पहचान दिलाई। छेत्री ने कहा कि झारखंड में संगठन सदैव आमजनों के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि अपनी मेहनत, विश्वास और कर्मठता के बल पर हर वर्ग का समर्थन हासिल किया है। आगे भी गोरखा समाज राज्य की बेहतरी के लिए कार्य करता रहेगा। उन्होंने कहा कि गोरखा समाज शुरू से ही विश्वास से सभी समाज का दिल जीता है। हर परिस्थित में मिलकर काम करता है।

Powered by Blogger.