Header Ads

पाकिस्तान के 13 शहरों में लगे पोस्टर, आर्मी चीफ से तख्तापलट करने की अपील


इस्लामाबाद : पाकिस्तान की एक पॉलिटिकल पार्टी ने देश में तख्तापलट के लिए कैंपेन छेड़ दिया है। पंजाब की मूव ऑन पार्टी ने 13 शहरों में पोस्टर और बैनर लगाए हैं। इसमें आर्मी चीफ राहिल शरीफ से मार्शल लॉ लागू करने की मांग की गई है। हालांकि, इसे लेकर आर्मी की तरफ से कोई भी रिएक्शन नहीं आया है। ये पार्टी इसी साल फरवरी में तब चर्चा में आई थी, जब उसने आर्मी चीफ से रिटायरमेंट प्लान पर दोबारा सोचने को कहा था।

देश में टेक्नोक्रेट्स की सरकार बने...
मूव ऑन पाकिस्तान पार्टी ने लाहौर, कराची, पेशावर, क्वेटा, रावलपिंडी, फैसलाबाद, सरगोधा समेत 13 शहरों में पोस्टर और बैनर लगवाए हैं। इसमें आर्मी चीफ राहिल शरीफ से देश में तख्तापटल करने और टेक्नोक्रेट्स की सरकार बनाने की मांग की गई है। कराची में ये बैनर सीएम हाउस से लेकर रेंजर्स हेडक्वार्टर तक ट्रैफिक चौराहों और सड़क के किनारे लगे हैं। पार्टी के सेंट्रल चीफ अली हाशमी ने मीडिया से कहा, ''कैंपेन का मकसद आर्मी चीफ को ये सुझाव देना है कि पाकिस्तान में मार्शल लॉ लागू करें।'' ''इसके बाद देश में टेक्नोक्रेट्स की सरकार बननी चाहिए और उसका सुपरविजन खुद जनरल राहिल करें।'' हाशमी के मुताबिक, ''40 से ज्यादा दिन तक पीएम नवाज शरीफ की देश में गैरमौजूदगी इस बात का सबूत है कि यहां पॉलिटिकल गवर्नमेंट की कोई जरूरत नहीं है।'' ये पोस्टर और बैनर रातोंरात 13 शहरों की सभी मुख्य जगहों पर लग गए थे। यहां तक कि ये कैंट एरिया में भी लग गए। वो भी तब जबकि वहां कई चेकप्वाइंट्स और एक्स्ट्रा सिक्युरिटी मौजूद थी। हाशमी का कहना है कि उनकी पार्टी के बैनर लाहौर और फैसलाबाद में सुबह उतार दिए गए थे।

आर्मी ने नहीं दिया जवाब
आर्मी के इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशन की ओर से इसे लेकर अब तक कोई रिएक्शन नहीं आया है। इसे लेकर एनालिस्ट आमिर राना का मानना है कि इससे कहीं न कहीं ये मैसेज जाएगा कि कुछ तो गड़बड़ जरूर है।

जानें पार्टी के बारे में
पाकिस्तान के इलेक्शन कमीशन में मूव ऑन पाकिस्तान पार्टी का नाम तीन साल पहले रजिस्टर्ड हुआ। फैसलाबाद के बिजनेसमैन मोहम्मद कामरान इस पार्टी के चेयरमैन हैं। फैसलाबाद, सरगोधा और लाहौर में उनके स्कूलों की पूरी चेन है। ये पार्टी देशभर में ऐसे ही पोस्टर और बैनर को लेकर इसी फरवरी में चर्चा में आई। तब पार्टी ने आर्मी चीफ से अभी न रिटायर होने की बात कही थी। बता दें राहिल का इसी साल नवंबर में रिटायरमेंट है।


Powered by Blogger.