Header Ads

नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री और माओवादी बाबूराम भट्टराई ने बनाई नई राजनीतिक पार्टी


काठमांडू : नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री और माओवादी नेता बाबूराम भट्टाराई ने रविवार को अपनी नई राजनीतिक पार्टी शुरू करते हुए देश की राजनीतिक प्रणाली में सुधार लाने और भारत और चीन दोनों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध बनाते हुए स्थिरता लाने का संकल्प लिया। भट्टाराई ने कहा कि उनकी पार्टी ‘नया शक्ति नेपाल’ देश को समृद्ध और विकसित बनाने की ऐतिहासिक जिम्मेदारी उठाएगी। प्रधानमंत्री केपी ओली की उपस्थिति में समारोह के दौरान भट्टाराई ने कहा कि उनकी पार्टी ऐसा मसौदा ला रही है जो महज 25 सालों में नेपाल को दुनिया के सबसे धनी देशों में शामिल कर देगा। विश्लेषकों की मानें तो नई राजनीतिक पार्टी बनाने के भट्टाराई के इस कदम से प्रचंड के नेतृत्व वाले सीपीएन-माओवादी सेंटर को बड़ा झटका लगने वाला है। अपनी शक्ति बढ़ाने के लिहाज से प्रचंड ने हाल ही में कुछ छोटे माओवादी समूहों से हाथ मिलाया है। प्रचंड की पार्टी सीपीएन-मोआवादी सेन्टर ओली के नेतृत्व वाली सरकार में मुख्य दल है।

61 वर्षीय भट्टाराई ने कहा, ‘नया शक्ति ऐसे सुधार लाएगी जो यह विश्वास पक्का करेगा कि राजनीति कोई गंदा खेल नहीं है। राजनीति कोई पेशा या धन कमाने का जरिया नहीं है। हम राजनीति को पवित्र और पारदर्शी बनाएंगे। हम जो कह रहे हैं, वही करेंगे।’ नेपाल-भारत-चीन संबंधों को समझाते हुए भट्टाराई ने कहा कि दोनों निकटतम पड़ोसियों के साथ सही संतुलन के बिना देश में अस्थिरता रहेगी और नेपाल बाहरी बलों के लिए खेल का मैदान बन जाएगा। काठमांडो पोस्ट के अनुसार, पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि नया शक्ति नेपाल आंतरिक सम्प्रभुता और भारत और चीन के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध बनाए रखने को प्रतिबद्ध है।
Powered by Blogger.