Header Ads

ओलंपिक क्वालीफाई करने वाले इकलौते बॉक्सर शिव थापा बोले, और भी बॉक्सर जा सकते हैं रियो


मुंबई/ गुवाहाटी : ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले एकमात्र भारतीय गोरखा मुक्केबाज शिव थापा ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि और मुक्केबाज रियो के लिए कट में जगह बनाएंगे, हालांकि कैलेंडर में अभी सिर्फ एक ही क्वालीफाइंग टूर्नामेंट बचा है। गैर सरकारी संगठन ओलंपिक गोल्ड क्वेस्ट ने सोमवार को 22 साल के मुक्केबाज को रियो जाने वाले आठ अन्य खिलाड़ियों के साथ सम्मानित किया। थापा ने कहा कि लंदन ओलंपिक में इतने सारे मुक्केबाज थे और विजेंदर सिंह ने भारतीय मुक्केबाजी को एक नया चेहरा दिया। मुझे उम्मीद है कि और मुक्केबाज रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करेंगे क्योंकि कुछ क्वालीफायर अभी बचे हैं। मुक्केबाजी में अभी तक थापा ने ही रियो के लिये क्वालीफाई किया है। थापा इस बात से दुखी हैं कि उन्होंने एशियाई क्वालीफायर में एआइबीए के झंडे तले हिस्सा लिया क्योंकि इस समय राष्ट्रीय मुक्केबाजी महासंघ का चुनाव नहीं हुआ है। इसमें उन्होंने रजत पदक जीता।

56 किग्रा मुक्केबाज का होगा दूसरा ओलंपिक
इस बार के ओलंपिक खेल इस 56 किग्रा मुक्केबाज का दूसरा ओलंपिक होगा। वह 2012 में लंदन ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले सबसे युवा भारतीय मुक्केबाज बने थे। गुवाहाटी में जन्में इस मुक्केबाज ने कहा, ‘यह मेरा दूसरा ओलंपिक है। मेरा ध्यान पूरी तरह से केंद्रित है। सचमुच कड़ी मेहनत कर रहा हूं। पिछले चार साल निकल गए और मैंने काफी कुछ सीखा। मैं रियो खेलों के लिए तैयार हूं और पूरा भरोसा है कि भारतीय दल पिछले ओलंपिक से ज्यादा पदक लाएगा।

Powered by Blogger.