Header Ads

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम नेपाल से चला रहा है इंटरनेशनल ड्रग रैकेट

 काठमांडू। नेपाल पुलिस नेपाल के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कोकीन की तस्करी के तार अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम से जुड़े होने की जांच कर रही है। नेपाल पुलिस ने हाल ही में तीन पाकिस्तानी नागरिकों को गिरफ्तार किया है जिनके संबंध अंतर्राष्ट्रीय ड्रग बाजार से जुड़े है और उनके बारे में माना जा रहा है कि वे दाऊद के करीबी हैं। नेपाल पुलिस ने कुछ पाकिस्तानी नागरिकों के तार नकली मुद्रा से लेकर सफेद और भूरे रंग वाले हेरोईन की तस्करी और एशिया से यूरोप में कोकीन की तस्करी में जोड़ने में सफलता पाई है। नेपाल के नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने तीन विदेशी नागरिकों और एक नेपाली नागरिक से दो किलो से ज्यादा कोकीन जब्त किया है जिनकी कीमत 3.30 करोड़ रुपए से ज्यादा है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि नेपाल में ड्रग के धंधे में कुछ प्रभावशाली ड्रग तस्करों का हाथ है।

एनसीबी के प्रमुख और पुलिस के उपमहानिरीक्षक जय बहादुर चंद ने बताया कि बेनेजुएला का येमेरिस कारमेन नारवेज, नाइजीरिया का मोहम्मद लामिन डाबो, भारत का तौहिद खान और नेपाल का दिल बहादुर गुरुंग कोकीन के साथ पकड़ा गया। इन गिरफ्तार किए गए लोगों के संबंध हांगकांग से थे जिनमें इनकी पाकिस्तानी नागरिकों ने मदद की थी। उन पाकिस्तानी नागरिकों की पहचान वाहिद खान, अब्दुल रज्जा उर्फ चाचा और उसके भाई के रूप में की है। उसका भाई दाऊद का काफी करीबी माना जा रहा है। भारत को 1993 के मुंबई बम ब्लास्ट में भी साजिशकर्ता के रूप में इसकी तलाश है। भारतीय खुफिया ब्यूरो से भेजी गई गुप्त सूचना के आधार पर नेपाल पुलिस ने इस रैकेट के कुछ लोगों की गिरफ्तारी की जिनके संबंध पाकिस्तानी नागरिकों से पाए गए।

सूत्रों ने बताया कि चाचा और दो अन्य जिनकी पहचान टाईगर और राजा भाई के रूप में हुई है। उन्हें दाऊद का करीबी माना जा रहा है जो इस ड्रग तस्करी का रैकेट दुबई, मलेशिया और हांगकांग में बैठ कर चला रहा है। सूत्र ने आगे बताया कि नेपाल पुलिस ने हालांकि इस दावे को अभी खुलकर स्वीकार नहीं किया है, लेकिन जिस तरीके से ड्रग तस्करी को अंजाम दिया जा रहा था और जो नाम सामने आ रहे हैं, वह दिखाता है कि यह आम अपराधियों का काम नहीं है। बल्कि यह किसी शातिर संगठित अपराधी का ही काम हो सकता है। डीआईजी चंद ने बुधवार को बताया कि गिरफ्तार किए लोग भाड़े के लोग थे जिन्हें अंतर्राष्ट्रीय ड्रग तस्करों ने हायर किया था। वे यूरोपीय देशों में कोकीन की आपूर्ति करते हैं और काठमांडू को ले जाने के एक ठिकाने के रूप में इस्तेमाल करते हैं।

जब्त किया गया कोकीन काठमांडू से दुबई ले जाया जा रहा था, जिसे एक वेनेजुएला की महिला नारवेज 24 अप्रैल को ले जा रही थी। डीआईजी चंद ने बताया कि कैथरीन नाम की इस महिला ने नारवेज को इस काम के लिए 1,500 डॉलर दिए थे। 14 मई को नारवेज ने इस ड्रग को नेपाली नागरिक गुरुं ग और नाइजीरियाई नागरिक डाबो को दे दिए। गुरुं ग पहले भी थाइलैंड और हांगकांग के लिए ड्रग की तस्करी में लिप्त रहा है। डीआईजी चंद ने बताया कि दो अन्य संदिग्ध जिसमें एक चीन से और दूसरा पाकिस्तान से हैं, फरार हैं।


Powered by Blogger.