Header Ads

उत्तराखंड : दलितों को मंदिर में एंट्री दिलाने पहुंचे सांसद तरुण विजय पर हमला


देहरादून : दलितों को मंदिर में प्रवेश दिलाने के लिए उत्तराखंड के चकराता पहुंचे बीजेपी के राज्यसभा सांसद तरुण विजय पर कुछ लोगों ने हमला कर दिया, जिसमें वह घायल हो गए हैं। तरुण विजय कुछ दलित नेताओं के साथ चकराता के पोखरी में शिलगुर देवता मंदिर में दर्शन करके निकले ही थे कि बाहर मौजूद भीड़ ने उनपर पथराव कर दिया और उनकी कार में तोड़फोड़ की। वहां मौजूद पुलिस ने उन्हें किसी तरह निकाला और घायल सांसद को विकासनगर अस्पताल में ले जाया गया। तरुण विजय दलितों को उत्तराखंड के मंदिरों में प्रवेश कराने की लंबे समय से मांग कर रहे हैं। शुक्रवार को दलितों के एक दल का नेतृत्व करते हुए तरुण विजय शिलगुर मंदिर में दर्शन करने पहुंचे थे। भीड़ के हमले में उनके सिर में चोटें आई हैं। अस्पताल में इलाज के बाद वह अपने काफिले के साथ रवाना हो गए। उनके साथ घायल हुए कुछ दूसरे लोगों को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा है कि तरुण विजय पर हमला करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

मंदिर के लिए रवाना होने से पहले सुबह तरुण विजय ने कहा कि भगवान को जाति में नहीं बांटा जा सकता, यदि ऐसा हुआ तो हिंदू धर्म का पतन होगा। सांसद ने कहा कि हम पोखरी मंदिर में दर्शन के लिए जा रहे हैं, किसी प्रकार का टकराव नहीं चाहते और गांधीवादी तरीके से मंदिर में प्रवेश किया जाएगा। उन्होंने कहा कि भगवान के मंदिर में प्रवेश से वंचित रखना किसी भी तरह से सही नहीं है। इससे पहले तरुण विजय ने पिछले हफ्ते उत्तराखंड सरकार और कांग्रेस पर भी तीखा हमला किया था। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस के पूर्ववर्ती मुख्यमंत्रियों ने राज्य को बर्बाद कर दिया है और विकास के नाम पर कुछ नहीं किया है। उन्होंने कहा, 'राज्य बीसी खंडूरी और निशंक सरकार के दौरान 1700 किमी. सड़क का निर्माण किया और 5000 गांवों में बिजली पहुंचाई गई।' 


Powered by Blogger.