Header Ads

‘सत्ता के लोभी’ नेतृत्व से अब नेपाल को पाना चाहिए छुटकारा : ज्ञानेन्द्र


काठमांडू : अंतिम नेपाल नरेश ज्ञानेन्द्र शाह ने कहा कि देश को 'सत्ता लोलुप' नेतृत्व से छुटकारा पाना चाहिए जो सिर्फ व्यक्तिगत लाभ पर ध्यान दे रहा है। उन्होंने सत्तारूढ़ दलों को चेतावनी दी कि जनता अपना धैर्य खो रही है। नेपाली नववर्ष पर अपने शुभकामना संदेश में शाह ने देश में वर्तमान परिस्थितियों पर चिंता जताई और कहा, 'दुनिया को देखने से पहले, अपने देश को देखो।' 68 वर्षीय शाह ने कहा, 'पूरी दुनिया के बारे में जानने से पहले, अपने देश को जानो।' नेपाली नववर्ष 2073 बिक्रम संवत के अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं देते हुए ज्ञानेन्द्र ने कहा, 'देश को सत्ता लोलुप नेतृत्व से छुटकारा पाना चाहिए, जो सिर्फ व्यक्तिगत लाभ पर ध्यान दे रहा है। ऐसे नेतृत्व के साथ, राष्ट्र कमजोर हो गया है। राष्ट्र का सिद्धांत कमजोर पड़ गया है, क्षेत्रीय और वैश्विक राजनीति एक नए अध्याय के मोड़ पर है।' शाह ने राजनीतिक तबके से कहा कि वे 'दक्षिण एशिया में बदल रहे शक्ति संतुलन को ध्यान में रखें।'

Powered by Blogger.