Header Ads

मुख्यमंत्री ममता के गोरखालैंड विरोधी बयान की गोजमुमो ने की निंदा

दार्जिलिंग : तृणमूल प्रमुख एवं राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के जान देंगे, प्राण देंगे परन्तु बंगाल का विभाजन नहीं होने देंगे संबंधी बयान की गोजमुमो ने कठोर शब्दों में निंदा की है. ममता ने यह बातें सोमवार को  चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुए सिलीगुड़ी में कही थी. मोर्चा के केन्द्रीय महासचिव रोशन गिरि ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा कि गोरखालैंड की मांग संवैधानिक है. पहाड़ पर लंबे अरसे से यह मांग की जा रही है़. गिरि ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का यह बयान गोरखाओं का अपमान है. मुख्यमंत्री एवं तृणमूल प्रमुख के इस बयान से देशभक्त गोरखाओं की भावनाएं आहत हुई है.  उन्होंने कहा कि देश में करीब डेढ़ करोड़ से अधिक गोरखा समुदाय के लोग रहते हैं. गोरखालैंड की मांग संवैधानिक है और यह पूरा भी होगा. गिरि ने कहा कि हम भी जान देंगे, प्राण देंगे परंतु बंगाल से अलग राज्य गोरखालैंड का गठन करके रहेंगे.

Powered by Blogger.