Header Ads

भारतीय गोरखा मुक्केबाज शिव थापा को सिल्वर मेडल से करना पड़ा संतोष


किनान (चीन)। ओलंपिक कोटा हासिल कर चुके भारतीय मुक्केबाज शिव थापा (56 किग्रा) ने एशियन क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में अपना अभियान रजत पदक के साथ समाप्त किया। शुक्रवार को खेले गए फाइनल में 22 वर्षीय शिव को थाईलैंड के चतचाई बुतदी ने 3-0 से हराया। बुतदी मौजूदा एशियाई चैंपियन भी हैं। भारतीय मुक्केबाज ने गुरुवार को फाइनल में जगह बनाने के साथ ही रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया था। हालांकि 49 किग्रा भार वर्ग में एल देवेंद्रो सिंह को हार का सामना करना पड़ा। देवेंद्रो दूसरी बार ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का मौका गंवा बैठे। गुरुवार को सेमीफाइनल में हारने वाले देवेंद्रो ओलंपिक कोटा हासिल करने के लिए बॉक्स ऑफ मुकाबले के लिए ¨रग में उतरे। 

उन्हें करीबी मुकाबले में मंगोलियाई मुक्केबाज गैन इरडीनी के हाथों 1-2 से शिकस्त मिली। टूर्नामेंट में शनिवार को भारत की स्टार मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम (51 किग्रा) बॉक्स ऑफ मुकाबले में चीनी ताइपे की यू टिंग लिन से भिड़ेंगी। इस मुकाबले के जरिये अगले महीने कजाखिस्तान में होने वाली विश्व चैंपियनशिप के लिए वरीयता तय होगी। मैच का परिणाम रैंकिंग पर भी असर डालेगा। सेमीफाइनल मैच में हारकर मैरी ओलंपिक बर्थ हासिल करने से चूक गई थीं। हालांकि उनके पास विश्व चैंपियनशिप के रूप में अभी एक और मौका है। विश्व चैंपियनशिप में मैरी कॉम का दबदबा रहा है। उन्होंने पांच स्वर्ण पदक विश्व चैंपियनशिप में जीते हैं।
 

Powered by Blogger.