Header Ads

जाप से चुनाव लड़ने की बात कर जनता को गुमराह कर रहे हर्क बहादुर : गुरुंग


 कर्सियांग : तृणमूल कांग्रेस द्वारा घोषित उम्मीदवारों की सूची में डॉ. हर्क बहादुर छेत्री का नाम भी शामिल है। जिससे यह स्पष्ट हो गया है कि वे तृणमूल कांग्रेस के नेता हैं। अब, वे अपनी पार्टी जाप से चुनाव लड़ने की बात कर रहे हैं। हर्क बहादुर जनता को गुमराह कर रहे हैं। उक्त उद्गार जीटीए प्रमुख विमल गुरुंग ने व्यक्त किए। वे अखिल भारतीय नेवार संगठन, कर्सियांग आंचलिक समिति (भीमेश्वर मंदिर) द्वारा स्नोव्यू परिसर में आयोजित नेवार जाति के महाधिवेशन को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जाप तो एक बहाना है, उनका असली मकसद गोरखाओं में फूट डालकर तृणमूल का परचम लहराना है। जिसमें वे कभी कामयाब नहीं होंगे। जीटीए प्रमुख ने कहा कि चुनाव विधानसभा चुनाव में किस सीट से कौन उम्मीदवार होगा, इस संबंध में अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। दो-चार दिनों के अंदर उम्मीदवारों का एलान कर दिया जाएगा। 

उन्होंने कहा कि पर्वतीय क्षेत्र के साथ ही तराई एवं डुवार्स से भी विभिन्न समुदायों के लोगों ने संपर्क कर चुनाव लड़ने की इच्छा जता चुके हैं। उम्मीदवार का संकट नहीं है। विमल ने कहा कि पर्वतीय क्षेत्र में लोग जातियों में विभक्त हो रहे हैं। पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा गोरखाओं की एकता में दरार डालने की कोशिश की जा रही है। जिससे हम सबको सतर्क रहने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव के लिए आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण कोई घोषणा नहीं कर पा रहा, परंतु संगठन को अपनी तरफ से हर संभव सहयोग के लिए हर समय उपलब्ध रहूंगा। विमल ने कहा कि पुराने नेताओं की तरह नहीं, जो अपनी जाति के हित को ही कार्य करें। ऐसा होता तो गैर जनजातीय 10 जातियों को अनुसूचित जनजाति की श्रेणी में शामिल कराने के लिए मुहिम ना चलाता। जो भी मिले, सभी को मिले अन्यथा किसी को ना मिले। 

उन्होंने गोरखालैंड राज्य की प्राप्ति तक संघर्षरत रहने का संकल्प व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य गठन ही मेरा अंतिम लक्ष्य है। इसकी प्राप्ति तक चैन से नहीं बैठने वाला। इससे पूर्व जीटीए प्रमुख ने नेवार जाति की संस्कृति की सराहना की व इसके संरक्षण एवं संव‌र्द्धन पर जोर दिया। कार्यक्रम में शिक्षा, साहित्य, एवं संगीत जगत की कई विभूतियों को सम्मानित किया गया। संगठन के कलाकारों ने पारंपरिक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों से बड़ी संख्या में पहुंचे जाति के लोग उपस्थित थे।


Powered by Blogger.