Header Ads

दक्षिण एशियाई खेल : गोरखा तीरंदाज तरुणदीप राई ने अपना व्यक्तिगत खिताब रखा बरकरार


शिलांग : वर्ष 2014 एशियाई खेलों के बाद वापसी कर रहे गोरखा तीरंदाज तरुणदीप राई ने सैग खेलों का व्यक्तिगत खिताब बरकरार रखा और दीपिका कुमारी के साथ स्वर्ण पदकों की हैट्रिक की। इन दोनों ने मिश्रित युगल के साथ अपनी संबंधित टीम स्पर्धाओं में भी पहला स्थान हासिल किया। भारतीय तीरंदाजों ने 12वें दक्षिण एशियाई खेलों में रिकर्व वर्ग में दाव पर लगे सभी पांचों स्वर्ण के साथ और दो रजत पदक जीतकर क्लीन स्वीप किया। सुबह के सत्र में पुरुष, महिला और मिश्रित युगल टीम का स्वर्ण जीतने के बाद रिकर्व तीरंदाजों ने दोपहर के सत्र में भारतीय तीरंदाजों के बीच हुए दो फाइनल में दो स्वर्ण और इतने ही रजत पदक से कुल 10 स्वर्ण और चार रजत पदक अपनी झोली में डाले।

दो बार के ओलंपियन राय ने दबाव में संयम बरतते हुए सेना के अपने साथी गुरूचरण बेसरा को व्यक्तिगत फाइनल में 6-2 से पराजित किया। बेसरा को रजत से संतोष करना पड़ा। वहीं दीपिका ने लक्ष्मीरानी मांझी और बोंबायला देवी के साथ मिलकर रिकर्व वर्ग में श्रीलंका को 6-0 से हराकर पहला पदक जीता था। इसके बाद उन्होंने राय के साथ जोड़ी बनाते हुए मिश्रित युगल में जीत दर्ज की। वहीं टीम स्पर्धा में भारतीय टीम ने श्रीलंका को 5-1 से हराया। इस टीम में तरुणदीप राई , गुरुचरन बेसरा और जयंत तालुकदार शामिल थे। राय और तालुकदार फार्म में नहीं थे, लेकिन बेसरा ने शानदार प्रदर्शन करके टीम को जीत दिलाई। राई और दीपिका ने मिश्रित युगल में बांग्लादेश के सोजेब शेख और ब्यूटी राय को 6-0 से मात दी। इससे पहले भारत के कंपाउंड तीरंदाजों ने सभी पांच स्वर्ण और दो रजत जीते थे।

Powered by Blogger.