Header Ads

विमल गुरुंग ने भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को याद दिलाया चुनावी वादा

 
दार्जिलिंग : जीटीए प्रमुख विमल गुरुंग के नेतृत्व में गोजमुमो के प्रतिनिधिमंडल ने नई दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात की। विमल ने अमित शाह को गोरखाओं की लंबित मांगें पूरी करने संबंधी भाजपा का चुनावी वादा याद दिलाया और गोरखाओं के वर्षो पुराने राज्य के सपने को साकार करने की दिशा में पहल किए जाने की मांग की। जीटीए प्रमुख विमल गुरुंग एवं सांसद एसएस अहलूवालिया के नेतृत्व में शाह से मुलाकात के दौरान नेताओं ने कहा कि भारतीय नेपाली भाषी गोरखाओं का अपनी अस्मिता, पहचान एवं सुरक्षा की दृष्टि से राज्य का सपना रहा है। लोकसभा चुनाव से पूर्व जारी अपने घोषणा-पत्र में भी भाजपा ने गोरखाओं की मांगों पर विचार की बात कही थी। अब केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाले राजग की सरकार है, तब राज्य गठन की प्रक्रिया शुरू की जानी चाहिए। 

गोरखाओं एवं आदिवासियों की उम्मीदों के अनुरूप राज्य को कमेटी का गठन किया जाना चाहिए। इस संबंध में मोर्चा महासचिव रोशन गिरी ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष को जीटीए समझौते के तहत पर्वतीय क्षेत्र में केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापित करने के प्रावधान एवं भूमि चिन्हित कर डीपीआर तक मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी को सौंपे जाने की जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि शाह से विश्वविद्यालय के साथ ही सैनिक स्कूल, सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल स्थापित कराने की भी मांग की गई। रोशन ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष ने आश्वस्त किया कि अपने स्तर से जितना संभव होगा, मोर्चा की मांगों को आगे बढ़ाएंगे। गौरतलब है कि एक दिन पूर्व ही केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी एवं जनजातीय मामलों के मंत्री जुएल ओराम से मुलाकात कर केंद्रीय विश्वविद्यालय, सैनिक स्कूल स्थापित किए जाने की मांग के साथ ही गैर जनजातीय गोरखा जातियों को अनुसूचित जनजाति की श्रेणी में शामिल किए जाने की मांग की थी।


Powered by Blogger.