Header Ads

भारत के द्वारा सीमा नाकेबंदी जारी रही तो नेपाली PM ओली पहले जाएंगे चीन


काठमांडो। नेपाली प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली की पहली विदेश यात्रा के तहत दिल्ली जाने के लिए भारत-नेपाल सीमा पर स्थिति सामान्य बनाए जाने को पूव.र्शर्त बताते हुए सत्तारूढ़ पार्टी सीपीएन.यूएमएल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि अगर व्यापार ‘नाकेबंदी’ नहीं हटाई गई तो ओली भारत से पहले चीन की यात्रा पर जा सकते हैं। सीपीएन.यूएलएल की प्रचार समिति के प्रमुख सूर्य थापा ने कहा कि ओली भारत द्वारा अपने ‘अनधिकृत नाकेबंदी’ हटाए जाने की प्रतीक्षा कर रहे हैं जो मुख्य रूप से रक्सौली.बीरगंज सीमा पर है और जहां से करीब 70 प्रतिशत द्विपक्षीय व्यापार होता है। थापा ने कहा, ‘अगर नाकेबंदी नहीं हटाई गई, तो प्रधानमंत्री भारत के स्थान पर पहले चीन की यात्रा कर सकते हैं।’ 

नेपाल में यह सामान्य चलन है कि नए प्रधानमंत्री अपनी पहली विदेश यात्रा पर भारत जाते हैं। लेकिन 2008 में पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ ने भारत की अनदेखी करते हुए अपनी पहली विदेश यात्रा के तौर पर चीन को तरजीह दी थी। थापा ने कहा कि हालांकि प्रधानमंत्री भारत-नेपाल संबंधों को काफी सम्मान देते हैं। लेकिन अगर भारत कोई सद्भाव नहीं दिखाता है तो ओली के पहली विदेश यात्रा पर चीन जाना अपरिहार्य है। उन्होंने कहा कि ओली की चीन यात्रा के लिए उनकी भारत यात्रा के साथ ही तैयारियां की जा रही है। यह यात्रा फरवरी के तीसरे हफ्ते में हो सकती है।


Powered by Blogger.