Header Ads

सिक्किम देश का पहला पूर्ण जैविक खेती वाला राज्य, PM मोदी 18 को करेंगे औपचारिक घोषणा


गंगटोक : पूर्वोत्तर राज्य सिक्किम ने भारतीय कृषि के इतिहास में एक सुनहरा पन्ना जोड़ दिया है। करीब 75 हजार हेक्टेयर भूमि पर जैविक खेती कर वह देश का पहला पूर्ण जैविक राज्य बन गया है। 18 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गंगटोक में होने वाले सतत कृषि सम्मेलन में इसकी औपचारिक घोषणा करेंगे। 'सिक्किम जैविक मिशन' के कार्यकारी निदेशक डॉ. आनबालागन ने बताया कि दिसंबर के अंत में हमने पूर्ण जैविक राज्य का दर्जा हासिल कर लिया है। उन्होंने बताया, 'जैविक उत्पाद के लिए राष्ट्रीय कार्यक्रम' में निर्धारित दिशानिर्देशों के अनुरूप प्रक्रियाओं व सिद्धांतों को लागू कर करीब 75,000 हेक्टेयर कृषि भूमि को क्रमिक रूप से प्रमाणिक जैविक भूमि में तब्दील किया गया। जैविक खेती से हिमालयन राज्य में पर्यटन के बढऩे की संभावना भी बढ़ गई है। कई रिसॉर्ट यह कहकर अपनी मार्केटिंग कर रहे हैं कि उनके यहां मिलने वाले सभी उत्पाद जैविक खेती से पैदा हुए हैं।

12 साल की मेहनत रंग लाई
12 साल पहले पवन चामलिंग के नेतृत्व वाली सरकार ने विधानसभा में घोषणा कर सिक्किम को जैविक कृषि राज्य बनाने का फैसला किया था। इसके बाद कृषि योग्य भूमि के लिए रासायनिक उर्वरकों का इस्तेमाल और उनकी बिक्री को प्रतिबंधित कर दिया गया। इससे किसानों के पास जैविक अपनाने के सिवा कोई विकल्प नहीं था।

क्या है जैविक खेती
जैविक खेती में रासायनिक कीटनाशकों व उवर्रकों का इस्तेमाल करने के बजाय परंपरागत तरीके अपनाकर पर्यावरण के साथ तालमेल बनाया जाता है। जैविक खेती से जैव-विविधता को संरक्षण व पर्यावरण रक्षा में दीर्घकाल में मदद मिलती है। साथ ही फसल उत्पादन में बढ़ोतरी होती है।
Powered by Blogger.