Header Ads

ऑटो ड्राइवर के बेटे प्रणव ने खेली स्कूली क्रिकेट में 1000 रन की पारी, लगाएं 127 चौके और 59 छक्के


मुंबई: स्कूली क्रिकेट में एक रिकॉर्ड बनता है, तो एक टूट जाता है। सचिन तेंदुलकर-विनोद कांबली के रिकॉर्ड को अरमान जाफर-सरफराज खान ने तोड़ा, तो उनके स्कूल के पृथ्वी शॉ उनसे आगे निकल गए। अब इस कड़ी में नया नाम जुड़ा है क्रिकेटर प्रणव धनावडे का, जिन्होंने मंगलवार को 1,000 रन का जादुई आंकड़ा पार कर लिया है। मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन द्वारा आयोजित एचटी भंडारी कप इंटर-स्‍कूल क्रिकेट टूर्नामेंट में प्रणव ने 1000 रन पूरे कर क्रिकेट की दुनिया में तहलका मचा दिया। 1002 रनों की नाबाद पारी के दौरान उन्होंने 127 चौके और 59 छक्के जड़े। बता दें, युवा खिलाड़ी 15 वर्षीय प्रणव धनावडे के पिता कल्याण में ऑटो ड्राइवर हैं। जाहिर है, प्रणव के लिए क्रिकेट में करियर बनाना दूसरों की तुलना में ज्यादा मुश्किल है, लेकिन प्रणव की यह धमाकेदार पारी उनको गुमनाम क्रिकेटर से रातों-रात उभरता हुआ स्टार खिलाड़ी बना सकती है।

मैच के पहले दिन बने 956 रन
मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के एचटी भंडारी कप इंटरस्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट में प्रणव ने केसी गांधी स्कूल के लिए 652 रनों की रिकॉर्ड पारी खेली। वो अभी भी नॉट आउट हैं। मैच के पहले दिन केसी गांधी स्कूल का स्कोर एक विकेट पर 956 रन रहा, जो अपने आप में एक और रिकॉर्ड है।

प्रणव धनावडे ने पृथ्वी शॉ के रिकॉर्ड को तोड़ा
पहले दिन के खेल की समाप्ति पर प्रणव धनावडे 652 और सिद्धेश पाटिल 100 रन बनाकर खेल रहे थे। उनके सलामी साथी आकाश सिंह ने भी 173 रनों की पारी खेली। मैच के पहले ही दिन 652 रनों की रिकॉर्ड पारी खेलते हुए प्रणव ने मुंबई के पृथ्वी शॉ के 546 रनों के रिकॉर्ड को तोड़ा, अपनी पारी के बाद प्रणव ने कहा, मुझे पृथ्वी के रिकॉर्ड के बारे में पता था, इसलिए उस स्कोर के करीब पहुंचकर मैं थोड़ा ध्यान से खेला। मेरी कामयाबी में मेरे कोच हरीश शर्मा का बड़ा योगदान है। मुंबई में स्कूली क्रिकेट के दो बड़े टूर्नामेंट हैं, हैरिस शील्ड और जाइल्स शील्ड। एचटी भंडारी कप मुंबई से सटे ठाणे जिले के स्कूलों के लिए आयोजित किया जाता है।


Powered by Blogger.