Header Ads

केजरीवाल के मंत्री आसिम पर बिल्डर से घूस लेने का आरोप, बर्खास्त

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने करप्शन के आरोप लगने पर अपने कैबिनेट मंत्री आसिम अहमद खान को उनके पद से बर्खास्त कर दिया गया है। आसिम अहमद खान पर एक बिल्डर से 6 लाख रुपये घूस लेने का आरोप है। केजरीवाल ने पूरे मामले की जांच सीबीआई को सौंपे जाने की सिफारिश भी कर दी है। मटिया महल से विधायक आसिम अहमद खान दिल्ली सरकार में फूड प्रोसेसिंग मंत्री थे।

24 घंटे में की कार्रवाई
केजरीवाल ने शुक्रवार को इस पूरे मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि उनकी सरकार में करप्शन को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि उन्हें मंत्री आसिम अहमद खान के खिलाफ गुरुवार को शिकायत मिली थी। शिकायतकर्ता ने उन्हें बिल्डर और मंत्री आसिम के बीच की बातचीत की 1 घंटे की रिकॉर्डिंग मिली थी। उन्होंने बताया कि हमने यह रिकॉर्डिंग सुनी और उसके बाद हमने मंत्री को उनके पद से हटाए जाने का फैसला लिया है। केजरीवाल ने आसिम की जगह इमरान हुसैन को नया फूड प्रोसेसिंग मंत्री बनाया है।

यह है मामला?
केजरीवाल ने बताया कि विधानसभा परिसर में एक बिल्डिंग बन रही है। मंत्री की तरफ से इस बिल्डिंग को बनने से रोका गया और बिल्डर से 6 लाख रुपये मांगे गए। बिल्डर ने 6 लाख रुपये मंत्री को दिए जिसके बाद बिल्डिंग का निर्माण शुरू हो सका। इसे लेकर हमें शिकायत मिली थी। उन्होंने बताया कि बिल्डर और मंत्री के बीच एक बिचौलिया भी है इस पर भी जल्दी कार्रवाई की जाएगी।

भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं
केजरीवाल ने कहा कि उनकी सरकार करप्शन को लेकर जीरो टोलेरेंस पर काम कर रही है। उन्होंने 24 घंटे के भीतर अपने मंत्री पर कार्रवाई करने का फैसला लेते हुए कहा, 'अगर मेरा बेटा भी भ्र्ष्टाचार करेगा तो मैं उसे भी कोई राहत नहीं दूंगा।' उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि दिल्ली में कहीं आपको करप्शन की शिकायत मिलती है तो आप हमें सबूत दीजिए हम जल्द से जल्द कार्रवाई करेंगे। केजरीवाल ने आसिम अहमद खान को पार्टी से निकाले जाने के सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि इस पार पार्टी फैसला करेगी। उन्होंने बताया कि फिलहाल आसिम अहमद खान को जांच होने तक उनके पद से हटा दिया गया है।

दूसरे मंत्री जिन्हें हटाया गया
14 फरवरी, 2015 को दिल्ली में आप की सरकार बनने के बाद से किसी मंत्री को उसके पद से हटाए जाने का यह दूसरा मामला है। इससे पहले जून में पूर्व कानून मंत्री जीतेंद्र तोमर को भी फर्जी डिग्री मामले में फंसने के बाद उनके पद से हटा दिया गया था। कैबिनेट मंत्री के पद से हटाए गए आसिम अहमद दिल्ली चुनाव में बड़ी जीत दर्ज करके आए थे। उन्होंने मटिया महल सीट से 5 बार के विधायक और इस चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार शोएब इकबाल को हराया था। आप से जुड़ने वाले आसिम अहमद बिजनेसमैन हैं।

विरोधियों ने साधा निशाना-

आरपीएन सिंह, कांग्रेस
'ये वहीं हो सकता है जिस दिल्ली में लोकपाल नहीं होगा, सोचिए अगर वहां लोकपाल होता तो केजरीवाल की पूरा कैबिनेट को रिजाइन करना पड़ता।'

अजय माकन, कांग्रेस
"8 महीने से कम समय में AAP के एक तिहाई मंत्रियों पर लगा भ्रष्टाचार का आरोप हैं ये कैसी सरकार है।"

संबित पात्रा, बीजेपी
"अपने कैबिनेट मंत्री पर करप्शन का आरोप लगने के बाद उनके पास उसे हटाए जाने के सिवाए और कोई चारा नहीं था।"

रविशंकर प्रसाद, बीजेपी
"केजरीवाल कभी नजीब जंग से लड़ते हैं, कभी पीएम से, राजनाथ सिंह से अब अपनों से जंग लड़ रहे हैं, उनकी जंग की कहानी उनपर छोड़िए, दिल्ली का जवाब हम उनके दिल्ली में ही देंगे।"

Powered by Blogger.