Header Ads

सिंगर अभिजीत ने पाकिस्तानी ग़ज़ल गायक ग़ुलाम अली को कहा बेशर्म और डेंगू आर्टिस्ट

मुम्बई : अक्सर ही अपने विवादास्पद बयानों को लेकर खबरों में रहने वाले बॉलिवुड सिंगर अभिजीत एक बार फिर इसी वजह से विवाद में हैं। इस बार उनके निशाने पर आए हैं पाकिस्तान के मशहूर ग़ज़ल गायक ग़ुलाम अली, जिनके खिलाफ उन्होंने ट्वीट्स की झड़ी लगा दी। दरअसल, गजल गायक जगजीत सिंह की चौथी पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि देने और याद करने के लिए मुंबई और पुणे में एक कॉन्सर्ट होना था, जिसमें ग़ुलाम अली शिरकत करने वाले थे। खबर है कि शिवसेना ने उनके इस कॉन्सर्ट को बाधित करने की धमकी दी, जिसके बाद इस कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया। अब इस घटना का समर्थन जताते हुए अभिजीत ने सिर्फ ग़ुलाम आली ही नहीं, बल्कि पाकिस्तानी कलाकारों के लिए खूब भला-बुरा कह डाला। सोशल साइट ट्विटर पर उन्होंने ग़ुलाम अली को बेशर्म और शादी का कव्वाल कह डाला है। इस मामले पर उन्होंने एक-दो नहीं, बल्कि की ट्वीट्स किए हैं।

उन्होंने सबसे पहले लिखा, 'कितनी बार भगाया, लेकिन इन बेशर्मों को कोई आत्मसम्मान नहीं है। इनका आतंक के अलावा कोई काम नहीं है, लेकिन हम दूसरे प्रेस्टिट्यूट्स के साथ इनका भी पेट भरते हैं।'

अगले ट्वीट में उन्होंने कहा, 'आ जाओ, इनकी तो बीप को बीप है। हमारी पॉलिटिकल पार्टियां सिर्फ भौंकती हैं। और अपने अगले ट्वीट में जो उन्होंने लिखा, वह यह था, 'शट अप...शादी के कव्वालों को हमने सिर पर चढ़ाया। इंतजार कीजिए, जिस दिन तुम हवाला सिंगर्स को असली पड़ेगी...माय फुट।'

अभिजीत का गुस्सा यहां तक भी ठंडा नहीं हुआ और अपनी भड़ास निकालते हुए उन्होंने लिखा, 'ये कव्वाल अपने मेरिट की वजह से नहीं, बल्कि अपने पाकिस्तानी दलालों की वजह से यहां आते हैं। 

यहां अपने इस ट्वीट में उन्होंने महेश भट्ठ को टैग किया है। इसके साथ ही उन्होंने हिंदू पार्टियों पर भी निशाना साधा और कहा, 'कथित हिंदू पार्टियां सिर्फ माइलेज के लिए चीखती हैं, लेकिन आतंकवादी देशों से आने वाले इन डेंगू आर्टिस्ट्स के खिलाफ कोई ऐक्शन नहीं लेतीं। बता दें कि जहां शिवसेना ने यह कहते हुए ग़ुलाम अली के कॉन्सर्ट पर विरोध जताया था कि पाकिस्तान की ओर से सीजफायर उल्लंघन और आतंकवाद जारी रखने के बीच इस तरह के प्रोग्राम नहीं होने चाहिए। वहीं, इन सबसे निराश दिल्ली के पर्यटन मंत्री कपिल मिश्रा ने ग़ुलाम अली को दिल्ली में लाइव कॉन्सर्ट का आमंत्रण दिया। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'यह दु:खद है कि ग़ुलाम अली को मुंबई में संगीत प्रस्ततुति की अनुमति नहीं दी जा रही है। मैं उन्हें दिल्ली में कॉन्सर्ट के लिए आमंत्रित करता हूं। संगीत की कोई सीमा नहीं होती।' वहीं, 75 साल के ग़ुलाम अली ने भी कार्यक्रम रद्द किए जाने पर निराशा जताते हुए कहा कि यह बेहद दु:खद है, क्योंकि इसका आयोजन जगजीत सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए किया गया था, जो उनके भाई की तरह थे।

Powered by Blogger.