Header Ads

भारतीय मूल के सुंदर पिचाई गूगल के नए CEO, अल्फाबेट नाम से काम करेगी कंपनी

कैलिफोर्निया. गूगल ने कंपनी में बड़ा फेरबदल करते हुए भारतीय मूल के सुंदर पिचाई को CEO बनाने का एलान किया है। कभी गूगल के प्रोडक्ट चीफ रहे सुंदर ने आईआईटी खड़गपुर से इंजीनियरिंग की डिग्री ली है। चेन्नई में जन्मे सुंदर पिछले 11 साल से गूगल से जुड़े हुए हैं। साथ ही दुनिया के सबसे बड़े सर्च इंजन ने अल्फाबेट इंक नाम से एक नई कंपनी बनाई है और अब गूगल इसी के तहत काम करेगी। 
को-फाउंडर ने ब्लॉग पोस्ट से दी जानकारी
गूगल के को-फाउंडर लैरी पेज के ब्लॉग पोस्ट के मुताबिक, गूगल अब 'स्लिमड डाउन' कंपनी बन गई है और Alphabet Inc का हिस्सा होगी। उन्होंने कहा, ''सुंदर गूगल को और ज्यादा क्लीन और जिम्मेदारपूर्ण बनाएंगे।'' हालांकि अल्फाबेट की जिम्मेदारी पेज सीईओ और गूगल के को-फाउंडर सेर्गे ब्रिन प्रेसिडेंट के रूप में संभालेंगे।
कौन हैं सुंदर पिचाई
सुंदर पिचाई टेक वर्ल्ड में एक बड़ा नाम हैं। वह पिछले 11 सालों से गूगल में काम कर रहे हैं। चेन्नई में जन्मे सुंदर पिचाई गूगल के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट (एंड्रॉइड, क्रोम और ऐप्स डिविजन) रह चुके हैं। पिछले साल अक्टूबर में कंपनी के नए प्रोडक्ट चीफ बन थे। एंड्रॉइड ऑपरेटिंग सिस्टम डेवलपमेंट में इनकी बड़ी भूमिका रही है।
जन्म -
- सुंदर पिचाई का जन्म चेन्नई में 1972 में हुआ था और अभी वे 43 साल के हैं।
- इनका असली नाम पिचाई सुंदराजन है, लेकिन उन्हें सुंदर पिचाई के नाम से जाना जाता है।
- उन्होंने 2004 में गूगल ज्वाइन किया था। उस समय वे प्रोडक्ट और इनोवेशन अफसर थे।

पढ़ाई-
- पिचाई को पेन्सिलवानिया यूनिवर्सिटी में साइबेल स्कॉलर के नाम से जाना जाता था।
- पिचाई ने अपनी बैचलर डिग्री आईआईटी, खड़गपुर से ली है। उन्होंने अपने बैच में सिल्वर मेडल हिसाल किया था।
- US में सुंदर ने MS की पढ़ाई स्टैनडफोर्ड यूनिवर्सिटी से की और वॉर्टन यूनिवर्सिटी से MBA किया।
टेक वर्ल्ड में बढ़ी भारतीयों की पहुंच
सुंदर को गूगल के द्वारा सीईओ अप्वाइंट किए जाने के बाद विश्व की टॉप सॉफ्टवेयर कंपनियों में भारतीय मूल के लोगों की पहुंच और बढ़ गई है। इससे पहले माइक्रोसॉफ्ट ने भारतीय मूल के सत्या नडेला को कंपनी हेड की जिम्मेदारी दी है। 
- Dainik Bhaskar 
Powered by Blogger.