Header Ads

मुंबई हमले पर बनी 'फैंटम' पर भड़का आतंकी हाफिज सईद, बैन के लिए पहुंचा कोर्ट

लाहौर : आतंकी हाफीज सईद ने बॉलीवुड फिल्म 'फैंटम' पर पाकिस्तान में बैन लगाने की मांग की है। जमात-उद-दावा (जेयूडी) के चीफ हाफीज सईद ने अपनी मांग को लेकर लाहौर हाईकोर्ट में एक पिटीशन भी दाखिल की है। सैफ अली खान-कैटरीना कैफ स्टारर 'फैंटम' मुंबई हमले पर आधारित है। हाफीज 26/11 हमले का मास्टरमाइंड है। बता दें कि अभी तक इस फिल्म का ट्रेलर ही रिलीज हुई है। फिल्म 28 अगस्त को रिलीज होने वाली है।

क्या है हाफीज की दलील
हफीज ने कहा, ''फैंटम में एंटी-पाकिस्तानी कंटेंट है इसलिए इस पर बैन लगे।'' अपनी पिटीशन में हाफीज ने फिल्म को पाकिस्तान के खिलाफ 'प्रोपोगैंडा' करार दिया है। हाफीज के एडवोकेट एके डोगरा ने सईद की ओर से पिटीशन दायर करते हुए इसे 'पाकिस्तान और जेयूडी के खिलाफ जहरीला' करार दिया है। आरोप है, ''यह फिल्म 2008 मुंबई हमलों को लेकर है और इसमें जेयूडी को विश्व में आतंकी संगठन के रूप में पेश करने की कोशिश हो रही है।''

दावे को नकारता रहा है पाकिस्तान
लश्कर-ए-तैयबा के फाउंडर ने कोर्ट में दावा किया है कि मुंबई हमलों को लेकर पाकिस्तान ने पहले ही भारत के दावे को खारिज कर दिया है जिसमें जेयूडी पर आरोप लगाए जाते रहे हैं। अमेरिका ने सईद पर 10 मिलियन अमेरिकी डॉलर का ईनाम रखा है। लाहौर हाईकोर्ट के जस्टिस शहीद बिलाल हसन ने पिटीशन पर अगली सुनवाई की तारीख 10 अगस्त तय की है।

मुंबई हमले में हाफीज का रोल
26 नवंबर 2008 में मुंबई पर पाकिस्तान से आए आतंकियों ने कई स्थानों पर हमला किया था। इस हमले में कई विदेशी नागरिकों सहित 166 लोगों की मौत हुई थी। इस हमले को अंजाम देने के लिए लश्कर के कमांडर जकी-उर-रहमान लखवी और सईद हफीज ने आतंकियों को पाकिस्तान में ट्रेनिंग दी थी। कबीर खान के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में सैफ अली खान एक इंडियन एजेंट हैं जो मुंबई हमले के आरोपी हाफीज सईद की तलाश करते हैं।
Powered by Blogger.