Header Ads

भारी बारिश से दार्जिलिंग, कलिम्पोंग-कुर्सियांग में भूस्खलन, 18 लोगों की मौत

सिलीगुड़ी। दार्जिलिंग, कलिम्पोंग और कुर्सियांग में  रात से भारी बारिश के कारण विभिन्न स्थानों पर हुए भूस्खलन में कम से कम 18 लोग मारे गए हैं। सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के एक अधिकारी ने  यह जानकारी दी है। भूस्खलन के कारण राष्ट्रीय राजमार्ग 10 और राष्ट्रीय राजमार्ग 55 को काफी नुकसान हुआ है और दार्जिलिंग तथा सिक्किम के बीच सड़क और दूरसंचार संपर्क बाधित हो गया है। दार्जिलिंग जिले के दार्जिलिंग , कलिम्पोंग और कुर्सियांग में 25 भूस्खलनों की सूचना मिली है। अधिकारी ने बताया कि भूस्खलनों की चपेट में आने से 18 लोग मारे गए हैं और एसएसबी के एक दल को प्रभावित क्षेत्र में भेजा गया है।

कलिम्पोंग के आठ माइल और 11 माइल इलाकों में 15 लोगों के लापता होने की भी रिपोर्ट मिली है। राष्ट्रीय राजमार्ग 10 को हुए नुकसान के कारण सिक्किम, कलिम्पोंग, लावा, लोलेगांव और गारबाथन का सड़क संपर्क टूट गया है। सिलीगुड़ी, मतिगर और दार्जिलिंग को जोड़ने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग 55 विशेष रूप से मिरिक और रोहिणी इलाकों में क्षतिग्रस्त हो गया है। राष्ट्रीय राजमार्ग 55 पर निम्बुझोरा में बना एक पुल भी बह गया है।रानिदंगा एसएसबी शिविर के जनसंपर्क अधिकारी करीअप्पा ने कहा कि कलिंपोंग, दार्जिलिंग और मिरिक से दस शव बरामद किए गए हैं। उन्होंने कहा कि एसएसबी के 41 और 30 बटालियन को भूस्खलन से प्रभावित इलाकों में बचाव कार्य के लिए भेजा गया है। वहीं सीमा चौकियों से भी एसएसबी के कर्मियों को बचाव कार्य के लिए भेजा जा रहा है।
Powered by Blogger.