Header Ads

हे ईश्वर! मैं हाथ जोड़ता हूं, कृपया मुझसे 'शुद्धि' के बारे में पूछना बंद करें: करण जौहर

मुंबई : फिल्मकार करण जौहर फिल्म 'शुद्धि' के बारे में पूछे जा रहे सवालों से तंग आ चुके हैं. आने वाली फिल्म 'बाहुबली : द बिगिनिंग' के ट्रेलर लांच पर सोमवार को 'शुद्धि' के बारे में सवाल पूछे जाने पर करण नाराज हो गए. उन्होंने कहा, "हे ईश्वर! मैं हाथ जोड़ता हूं, आपके पांव पड़ता हूं. कृपया मुझसे 'शुद्धि' के बारे में सवाल न पूछें. मुझे नहीं पता कि फिल्म के साथ कौन सा अपशकुन जुड़ गया है. मैं इस बारे में कुछ नहीं कह सकता." करण अभिनेता ऋतिक रोशन और करीना कपूर खान को लेकर फिल्म 'शुद्धि' बनाने वाले थे, लेकिन बाद में सलमान को फिल्म के नायक के रूप में लिए जाने की खबर थी. करण ने हालांकि पिछले महीने घोषणा की थी कि वह वरुण धवन और आलिया भट्ट को लेकर शुद्धि का निर्माण करने वाले हैं. फिल्म 'बाहुबली' के ट्रेलर लांच के दौरान करण ने कहा कि वह 'शुद्धि' को लेकर बार बार पूछे जा रहे सवालों से तंग आ चुके हैं. करण ने कहा, "जिस दिन मैं 'शुद्धि' का पोस्टर लांच करूंगा और इसकी घोषणा करूंगा, उस दिन आपको इस बारे में बता पाऊंगा. मैं फिल्म का पोस्टर तैयार कर उसे जारी करूंगा, ताकि लोगों को यकीन हो कि यह कोई मिथक नहीं है."

सिनेप्रेमी के नजरिए से देखता हूं पटकथा : करण
बॉलीवुड फिल्मकार करण जौहर ने दक्षिण भारतीय फिल्मकार एस.एस. राजामौली से उनकी फिल्म 'बाहुबली : द बिगिनिंग' के हिंदी रीमेक के अधिकार खरीदे हैं. वह कहते हैं कि वह केवल उन फिल्मों का समर्थन करते हैं, जो एक दर्शक के रूप में उन्हें प्रभावित करे. 'बाहुबली' का ट्रेलर यहां सोमवार को जारी हुआ. यह पूछे जाने पर कि किसी फिल्म का समर्थन करने से पूर्व वह क्या चीज देखते हैं? करण ने कहा, "मैं हिंदी फिल्मों का दिवाना हूं. उन्हें कई बार देखता हूं और देखकर हंसता, रोता, गाता एवं नाचता हूं और फिल्म में मौजूद परिस्थितियों से प्रभावित होता हूं." उन्होंने कहा, "इसलिए मैं जब एक पटकथा पढ़ता हूं, तो इन भावों को एक दर्शक के रूप में देखता हूं. अगर एक पटकथा एक दर्शक के रूप में मेरे दिल को छूती है या मेरा मनोरंजन करती है, तो मैं ऐसी फिल्मों को बनाता हूं. मैं एक पटकथा पर फिल्मकार के रूप में नहीं, बल्कि एक सिनेप्रेमी के रूप में प्रतिक्रिया देता हूं." करण ने कहा कि उन्होंने हालिया फिल्म 'पीकू' और 'तनु वेड्स मनु रिट्नर्स' अच्छी लगीं.


Powered by Blogger.