Header Ads

पीएम मोदी 'मन की बात' में बोले "वन रैंक वन पेंशन" लाने के लिए सरकार बाध्य

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व सैनिकों को अपने रविवार के रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' में ज़िक्र करते हुए आश्वासन दिया है कि सरकार "वन रैंक वन पेंशन" लाने के लिए बाध्या है। प्रधानमंत्री ने कहा की यह पेचीदा मामला है जो विगत 40 सालों से लंबित पड़ा हुआ है। गौरतलब है कि मोदी ने शनिवार सुबह भी ट्वीट कर कहा था कि "सरकार वन रैंक वन पेंशन लाने के लिए बाध्य है और इसमें कोई शक नहीं है।" इससे पहले शुक्रवार को केंद्रीय रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने भी कहा था कि स्कीम जल्द ही लॉन्च की जाएगी, लेकिन वे इसके लिए पक्की तारीख नहीं बता सकते। पार्रिकर ने कहा, "अभी दो या तीन स्टेप्स बाकी हैं, लेकिन वन रैंक वन पेंशन जल्दी आने वाली है। इसे लाने में कई विभाग जुड़े हुए हैं, इसलिए पक्की तारीख बताना अभी मुश्किल है कि कब यह स्कीम लागू की जाएगी।" इससे पहले सोमवार को मथुरा में हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में भी इस स्कीम की घोषणा की उम्मीद की जा रही थी, लेकिन ऎसा नहीं हुआ।

यह है वन रैंक वन पेंशन
वन-रैंक वन-पेंशन के मुताबिक, कर्मचारी चाहे जिस साल सेवानिवृत्त हुए हों उनकी पेंशन उतनी ही होगी, जितनी आज सेवानिवृत्त हो रहे कर्मचारी की है।
Powered by Blogger.