Header Ads

केंद्र सरकार के शिकंजे में पटौदी नवाब, हाथ से जा सकती है पुश्‍तैनी संपत्ति!

भोपाल : इन दिनों बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान और केंद्र सरकार के बीच काफी तनातनी का माहौल चल रही है. जिसके कारण सैफ अली खान कानूनी पचड़ों में फंसते नज़र आ रहे हैं. अभी कुछ दिनों पहले ही सैफ अली खान से उनकी पद्म पुरस्कार वापस लेने की बात सामने आई थी. अब उसके बाद एक और बड़ा झटका लगा है. सैफ अली खान अब मध्य प्रदेश के भोपाल में अपनी संपत्ति को लेकर कानूनी आफतों में उलझ गये हैं. सैफ अली खान की दादी साजिदा की पटौदी के नवाब व बॉलीवुड अभिनेता सैफ अली खान अपनी संपत्ति को बचाने के लिए सरकार के साथ कानूनी लड़ाई लड़ रहे हैं. अभिनेता सैफ अली खान की ये पुश्तैनी संपत्ति उन्हें अपनी दादी साजिदा सुलतान से विरासत में मिली है लेकिन अब ये केंद्रीय गृह मंत्रलाय की जांच के दायरे में आ गई है. जिससे अब सरकार एनिमी प्रोपर्टी एक्ट (शत्रु संपत्ति अधिनियम) 1968 के तहत इसकी जांच करेगी. इस पूरे मामले की जांच कर रही ओसीईपी के मुताबिक ये संपत्ति असल में सैफ अली खान की दादी साजिदा की नहीं है. यह प्रॉपर्टी उनकी बहन आबिदा सुलतान की थी. ऐसे में जब आबिदा सुल्‍तान पाकिस्‍तान चली गयी थी तब यह संपत्‍ित उनकी बहन साजिदा के पास आ गयी थी.

सैफ अली खान इस पूरे मामले को सुलझाने की कोशिश में लगे है वहीं इस मामले में सूत्रों की माने तो कहा जा रहा है कि इस कानूनी लड़ाई में हो सकता सैफ अली खान को पुश्‍तैनी संपत्‍ित से हाथ धोना पड़ सकता है. हालांकि खबरें यह भी आ रही हैं कि सैफ इस कानूनी विवाद को सुलझाने की कोशिश में लगे हैं. इस मामले में उनसे कहा गया है कि वो आखिरी नवाब और केंद्र सरकार के बीच हुए विलय समझौते की कॉपी पेश करेंगे. वहीं केन्द्र सरकार से हो रहे इस संपत्‍ित विवाद में सैफ अली खान पूरी तरह से चुप हैं. वहीं उनकी मां शर्मीला टैगोर भी कुछ कहने से बच रही हैं. गौरतलब है कि कानूनी अभी हाल ही में चर्चा में आये थे. इस दौरान सैफ से उनकी पद्म पुरस्कार वापस लेने की बात सामने आई थी.
Powered by Blogger.