Header Ads

ट्रैफिक जाम के झाम से निजात को ओवर ब्रिज निर्माण की योजना : विमल गुरुंग

दार्जिलिंग : चालकों की सभी समस्याओं का निराकरण होगा। जीटीए के स्तर पर इसके जो भी संभव होगा, वह किया जाएगा। चालकों के उपर किसी भी तरह का अत्याचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उक्त उद्गार जीटीए प्रमुख विमल गुरुंग ने व्यक्त किए। वे रविवार को स्थानीय गोरखा रंगमंच भवन के प्रेक्षागृह में ऑल ट्रांसपोर्ट ज्वाइंट एक्शन कमेटी के महासम्मेलन को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि चालकों ने उन्हें पुलिस द्वारा किए जा रहे अत्याचार के संबंध में पहले कभी नहीं बताया। अब संज्ञान में आया है, तो इस संबंध में राज्य सरकार से बात कर समाधान कराने का प्रयास किया जाएगा। 

जीटीए प्रमुख ने किसी भी तरह की समस्या तत्काल उन्हें बताने की अपील की व कहा कि दार्जिलिंग अथवा कर्सियांग के चालक जब उनके पास शिकायत नहीं करेंगे। तो उन्हें कैसे जानकारी मिलेगी। उन्होंने कहा कि सरकार से वार्ता के बाद भी यदि इस समस्या का समाधान नहीं होता, तो चालक पुलिस के खिलाफ आंदोलन करें। राज्य की तृकां नीत सरकार पर निशाना साधते हुए विमल ने कहा कि एक दल के लोग कहते हैं कि जीटीए के द्वारा केवल शिलान्यास किया जा रहा है। उन्हें कौन बताए कि शिलान्यास के बगैर विकास नहीं होता। उन्होंने कहा कि शिलान्यास के बाद ही कार्य होता है। दार्जिलिंग सरकारी कॉलेज के पास छोटा कागझोड़ा में बहुमंजिली कार पार्किंग का निर्माण अंतिम चरण में है। साथ ही कर्सियांग में भी कार्य प्रगति पर है। गोजमुमो के मुखिया ने खुलासा किया कि इसके बाद तकदाह, सोनादा, विजनबारी व मिरिक में भी पार्किंग निर्माण की योजना है। 

तृकां पर पार्वत्य क्षेत्र के विकास में बाधा उत्पन्न करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि जीटीए केंद्र सरकार की सहायता से कई रास्तों के निर्माण की योजना पर कार्य कर रहा है। इसी के तहत कुछ का गत दिनों शिलान्यास भी किया गया। जिसे लेकर तृकां राजनीति कर रही है। विमल ने कहा कि पर्यटकों की सुविधा के लिए विभिन्न स्थानों पर सड़क के किनारे 'पे एंड यूज' शौचालयों का निर्माण कराने के साथ ही नगरपालिका क्षेत्रों में सिंडिकेट को कार्यालय उपलब्ध कराने का भी एलान किया। उन्होंने नगर के पुराने सुपर मार्केट की जर्जर हालत व कभी भी ध्वस्त होने से खतरे की संभावना को देखते हुए तोड़कर नए सिरे से अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त बाजार का निर्माण कराने व सिंडिकेट को उसी भवन में कार्यालय उपलब्ध कराने की भी घोषणा की। 

विमल ने हॉकरों द्वारा सड़कों के किनारे दुकानें लगाने से भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में आवागमन के दौरान हो रही असुविधा से निजात के लिए ओवर ब्रिज बनवाने का भी एलान किया व कहा कि सुपर मार्केट, कचहरी के सामने व रेलवे स्टेशन के पास ओवर ब्रिज के निर्माण की योजना पर जीटीए काम कर रहा है। इससे पूर्व चालक संगठनों एवं विभिन्न सिंडिकेट के प्रतिनिधियों ने जीटीए प्रमुख को मांग-पत्र भी सौंपा। जिसमें मुख्य रुप से पुलिस द्वारा दिन-ब-दिन अत्याचार करने, बेवजह परेशान करने व मुकदमा करने, जुर्माना लगाने का आरोप लगाते हुए इससे निजात दिलाने की मांग की गई है। इस अवसर पर जीटीए के परिवहन विभाग के सभासद ज्योति कुमार राई, रोशन गिरि, विनय तमांग समेत बड़ी संख्या में चालक मौजूद रहे।

- जागरण
Powered by Blogger.