Header Ads

अभिनेत्री मनीषा हरिद्वार में बोली: सन्‍यास लेना आसान नहीं , इसे समझने का प्रयास

हरिद्वार : हरिद्वार में बाबा पायलट द्वारा आयोजित महामृत्युन्जय एकादश रुद्र महायज्ञ में शिरकत करने पंहुची फिल्म अभिनेत्री मनीषा कोईराला ने कहा कि संन्यास लेना बहुत कठिन होता है और अभी वह इसको समझने का प्रयास कर रही हैं. गेरुए वस्त्रों में माथे पर टीका लगाये और आंखों पर काला चश्मा पहने साधू संतों के बीच बैठी मनीषा कोईराला से संवाददाताओं द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या वह संन्यास लेने जा रही हैं, उन्होंने कहा, 'संन्यास लेना बहुत कठिन होता है. वक्त आयेगा तो संन्यास भी लूंगी लेकिन अभी मैं नहीं जानती कि मैं इसके लिये तैयार हूं या नहीं.' उन्होंने आगे कहा कि वह पायलट बाबा के निमंत्रण पर यहां आयी हैं और इसे उनका 'बेबी स्टेप' कहा जा सकता है. 

अभिनेत्री ने कहा,' अभी मैं जानना चाहती हूं कि संन्यास क्या है. मनीषा ने कहा कि इस तरह के यज्ञ में बैठ कर उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है और उनके लिये यह बडे सौभाग्य की बात है. अभिनेत्री के साथ उनके माता पिता तथा कुछ अन्य लोग भी नेपाल से यज्ञ में शिरकत करने यहां पहुंचे है. यह पूछे जाने पर कि क्या अब वह फिल्मों में काम करना बंद करेंगी, मनीषा ने कहा कि फिल्में उनकी लाइफ लाइन है और उससे दूरी कभी नहीं हो सकती. उन्होंने बताया,' यहां आने से एक दिन पहले ही मैंने एक फिल्म साइन की है. यह राजकुमार संतोषी की एक तमिल फिल्म है.' मनीषा ने कहा कि गंगा नदी के पास आकर उन्हें बहुत अच्छा लगा और अगले दस दिन तक वह यहीं रहेंगी. प्रसन्न और स्वस्थ दिखायी दे रहीं मनीषा पायलट बाबा के साथ हर की पैडी से चली शोभा यात्रा में भी सम्मिलित हुई. एक सुसज्जित रथ में अपनी मां के साथ मनीषा ने पांच किलोमीटर की यात्रा साधू संतों के साथ तय की.

Powered by Blogger.