Header Ads

बॉलीवुड में 'ट्रेजेडी किंग' के नाम से मशहूर दिलीप कुमार ने मनाया का अपना 92वां जन्मदिन

बॉलीवुड में 'ट्रेजेडी किंग' नाम से मशहूर जानेमाने अभिनेता दिलीप कुमार आज 92 वर्ष के हो गए. दिलीप का जन्‍म 11 दिसंबर 1922 को को पेशावर (जो अब पाकिस्तान) में हुआ था. उनके असली नाम मोहम्‍मद यूसुफ खान था. दिलीप कुमार भारतीय सिनेमा के सफलतम अभिनेताओं में से एक थे. दिलीप कुमार ने फिल्म 'दाग' (1952) और 'देवदास' (1955) के लिए फिल्म फेयर बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड जीता था. वे इस तरह के अवॉर्ड जीतने वाले पहले एक्टर बने थे. दिलीप ने फिल्‍म 'ज्‍वार-भाटा' से बॉलीवुड में अपने करियर का शुरूआत की थी. वर्ष 1930 में दिलीप साहब का पूरा परिवार मुबंई आ गया था. 1940 में वे पुणे चले गए और उन्‍होंने वहां फलों का व्‍यापार किया. 'ज्‍वार-भाटा' के लेखक ने उनका नाम यूसुफ खान से दिलीप कुमार रख दिया था. इसी नाम से उनकी बॉलीवुड में पहचान बनी.

वर्ष 1947 में आई फिल्‍म 'जुगनू' ने दिलीप कुमार को हिट कर दिया. ये फिल्‍म बॉक्‍स ऑफिस पर सुपरहिट रही. इसके बाद दिलीप कुमार ने फिल्‍म 'साहेब', 'अंदाज', 'जोगन', 'दीदार', 'दाग', 'देवदास', 'यहूदी' और 'मधुमती' जैसी कई हिट फिल्में दी. इसके बाद उन्‍होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. दिलीप कुमार ने उस दौर की कई मशहूर अभिनेत्रियां के साथ काम किया जिनमें मीना कुमारी, मधुबाला, वैजयंती माला और कामिनी कौशल शामिल है.  दिलीप कुमार को बॉलीवुड में 'ट्रेजेडी किंग' में नाम से जाना जाता था. उन्‍होंने 'ट्रेजेडी किंग'  की छवि हटाने के लिए साफ-सुथरी छवि वाली फिल्‍म 'आन' में काम किया. जो सुपरहिट रही. इस फिल्‍म में उन्‍होंने एक आक्रामक किसान की भूमिका निभाई थी. फिल्‍म 'कोहिनूर' (1960) के लिए दिलीप कुमार ने एक बार फिर बेस्‍ट एक्‍टर का फिल्‍मफेयर अवार्ड जीता.  हाल ही में उन्हें सीने में संक्रमण की समस्या के चलते लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनकी सेहत अब ठीक बताई जा रही है. डॉक्‍टरों के मुताबिक आज उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल जाएगी, जिसके बाद वो घर पर ही जन्मदिन मनाएंगे. वहीं कुछ दिनों पहले दिलीप कुमार अपनी पत्‍नी सायराबानो के साथ सलमान खान की बहन अर्पिता खान की रिसेप्‍शन पार्टी में शामिल हुए थे.
Powered by Blogger.