Header Ads

गोरखा तीरंदाज़ तरुणदीप राई ने जीता नेशनल रैंकिंग टूर्नामेंट का खिताब

नई दिल्ली। यह पहली बार था जब ऐतिहासिक स्थल पर तीरंदाजी हो रही थी। लाल किले की छटा के बीच दिग्गज रिकर्व तीरंदाज तरुणदीप राई ने गजब का प्रदर्शन दिखा नेशनल रैंकिंग टूर्नामेंट का खिताब अपने नाम करने के साथ एक लाख रुपये का नकद पुरस्कार भी झटक लिया।  देश को एशियाई खेलों में पहला पदक दिलाने वाले तरुणदीप ने यहां तक कहा कि अगर ओलंपिक में पदक दिलाने हैं तो इस तरह के स्थलों पर आयोजन कराना होगा। 

ऐतिहासिक स्थलों पर आयोजन से भीड़ जुटती है।  यहां भी ऐसा ही हुआ है। अमूमन उनके खेल में भीड़ नहीं होती है। जब भीड़ जुटेगी तो जाहिर है दबाव बनेगा और यही तीरंदाजों की मानसिक दशा को मजबूत करेगा। इससे पहले वह सांता डोमेनिगा के एक ऐतिहासिक स्थल पर तीरंदाजी कर चुके हैं लेकिन देश होने के कारण यहां काफी दबाव था। उन्होंने बेहद संघर्षपूर्ण फाइनल में कपिल कुमार को टाई शूट में हराया। मुकाबला 5-5 की बराबरी पर छूटा। टाई में एक-एक तीर चलाने को दिया गया। तरुणदीप का निशाना आठ पर लगा। उन्होंने भी मान लिया गड़बड़ हो गई लेकिन कपिल ने उनसे भी बदतर सात पर निशाना लगाया और स्वर्ण तरुण के नाम हो गया। 


Powered by Blogger.