Header Ads

सीमा में 5 किमी अंदर तक आए चीनी सैनिक, ITBP की चेतावनी के बाद लौटे

नई दिल्ली :  चीन के सैनिकों की हरकतें रुक नहीं रही हैं। लेह-लद्दाख में उनकी घुसपैठ का सिलसिला भी जारी है। 22 अक्टूबर की घटना का खुलासा अब हुआ है। उस समय चीनी सैनिक भारत की सीमा में पांच किलोमीटर अंदर तक घुस आए। पेंगोंग झील में भी कश्तियां उतार दीं। हालांकि आईटीबीपी के चौकस जवानों ने सख्ती दिखाते हुए उन्हें लौटने को मजबूर कर दिया। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि चीन के सैनिकों ने पहले झील में कश्तियां उतारीं। फिर झील के उत्तरी तट के साथ बनी सड़क के जरिए भारत की सीमा में घुसे, लेकिन आईटीबीपी के जवानों ने उन्हें रोक दिया। दोनों पक्ष आमने-सामने गए। दोनों तरफ से बैनर दिखाए गए कि 'यह हमारा क्षेत्र है'। लेकिन अंत में चीन के सैनिकों को ही लौटना पड़ा। पेंगोंग झील लेह से 168 किमी दूर अत्यधिक ऊंचाई वाले क्षेत्र में है। इसका 45 किमी इलाका भारतीय, जबकि 90 किमी इलाका चीन में है।

भारत पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा चीन
जहां घुसपैठ हुई वह विवादित क्षेत्र है। चीन ने यहां सीरी जप क्षेत्र में सड़क बनाई है। माना जा रहा है कि भारतीय सैनिकों पर मनोवैज्ञानिक दबाव डालने के लिए चीन की सेना घुसपैठ कर रही है। उनकी ओर से ऐसी घटनाएं हाल ही के महीनों में बढ़ी हैं। सितंबर में जब चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत आए थे, तब भी चीन की सेना ने घुसपैठ की थी।

Powered by Blogger.