Header Ads

17 साल में नॉर्थ-ईस्ट में चार दिन बिताने वाले पहले पीएम बनेंगे नरेंद्र मोदी

गुवाहाटी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार से चार दिन की पूर्वोत्तर यात्रा पर होंगे। 29 नवंबर को असम पहुंचने के साथ ही मोदी की पूर्वोत्तर यात्रा शुरू होगी। वे असम के अलावा मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा और नागालैंड भी जाएंगे। प्रधानमंत्री बनने के बाद यह मोदी की पहली पूर्वोत्तर यात्रा है। पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा ने पद पर रहते हुए पूर्वोत्तर की चार दिनों की यात्रा की थी। उनके बाद नरेंद्र मोदी इतने दिन बिताने वाले दूसरे प्रधानमंत्री बनेंगे।  

कार्यक्रम  -29 अक्टूबर को गुवाहाटी में राज्यों के पुलिस प्रमुखों के सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे। यह सम्मेलन मोदी के ही कहने पर पहली बार दिल्ली के बाहर आयोजित किया जा रहा है।
-गुवाहाटी में ही रिमोट कंट्रोल के जरिए मेघालय के मेंदीपथर से असम के गोलपाड़ा जिला स्थित दूधनोई के बीच रेल लाइन का उद्घाटन करेंगे।
-रविवार को असम के इंदिरा गांधी स्टेडियम में बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।
-नागालैंड के सबसे बड़े सालाना उत्सव हॉर्नबिल फेस्टिवल का उद्घाटन।
-मणिपुर के संगाई फेस्टिवल का उद्घाटन करेंगे।
-दक्षिणी त्रिपुरा के पलटना में 726 मेगावॉट के पावर प्रोजेक्ट की दूसरी यूनिट को राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

त्रिपुरा सेंट्रल यूनिवर्सिटी के टीचर और लेखक इंद्रनील भौमिक के मुताबिक, 'लोकसभा चुनाव से पहले अपनी सभाओं में मोदी ने पूर्वोत्तर के युवाओं को आकर्षित किया था। उन्होंने बेरोजगारी दूर करने का सपना दिखाया था। पढ़े-लिखे और निरक्षर-दोनों तरह के युवाओं में बेरोजगारी है। यह इस इलाके की सबसे बड़ी समस्या है।' लेखक शेखर दत्ता के मुताबिक, 'मोदी का पूर्वोत्तर दौरा बहुत अहम है। यह दिखाता है कि बीजेपी इस इलाके में अपनी जमीन मजबूत करना चाहती है। यह संवेदनशील इलाका है, जिसकी अनदेखी की जाती रही है।'
लोकसभा में मिली थी कामयाबी 
लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्वोत्तर के सात राज्यों में कई सभाएं की थीं। इसका असर नतीजों में देखने को मिला था। बीजेपी और उसकी सहयोगी पार्टियों को इस इलाके में कुल 24 सीटों में से 10 पर जीत हासिल करने में कामयाबी मिली थी।
Powered by Blogger.