Header Ads

असम से मेघालय के गारो हिल्स के बीच 131 KM दौड़ेगी रेलगाड़ी

शिलांग : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को असम के दूधनोई और मेघालय के गारो हिल्स के बीच 131 किलोमीटर के रेलमार्ग पर पहली सवारी रेलगाड़ी को हरी झंडी दिखाएंगे। गुवाहाटी के मालीगांव स्थित दूधनोई से मेघालय के उत्तरी गारो हिल्स स्थित मेंदीपाथर तक जाने वाली इस रेलगाड़ी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा और उनके मंत्रियों की उपस्थिति में हरी झंडी दिखाएंगे। इसके बाद मोदी गारो हिल्स के लोगों को वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करेंगे। दोनों स्टेशनों के बीच की दूरी करीब 131 किलोमीटर है। प्रतिदिन एक सवारी रेलगाड़ी मेंदीपाथर से असम के गोपाला जिले के दुधनोई होते हुए गुवाहाटी पहुंचेगी। मेघालय चारों ओर से जमीन से घिरा हुआ राज्य है और यह अभी तक पूरी तरह से सड़क मार्गों पर निर्भर है। इसी कारण यहां पर अधिकतर वस्तुओं की कीमतें अन्य राज्यों की तुलना में अधिक हैं।

बजाज के. मारक पहले गारो जनजातीय रेलगाड़ी के चालक होंगे। कई प्रकार के रेल इंजनों को चलाने में माहिर मारक ने बताया कि शनिवार को पहली गाड़ी मेघालय जाने के लिए तैयार है और इसके साथ ही राज्य राष्ट्रीय रेलवे ग्रिड से जुड़ जाएगा। मारक ने कहा, 'रेल सेवा से सड़क संपर्क में सुधार तो नहीं होगा लेकिन इससे गारो हिल्स के लोग सामाजिक और आर्थिक स्तर पर तेजी से आगे बढ़ेंगे।' मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने कहा, 'इस रेल सेवा से राज्य की आर्थिक स्थिति में कई बड़े बदलाव आएंगे। यह उन परियोजनाओं में सबसे महत्वपूर्ण थी जिसकी मांग राज्य सरकार निरंतर केंद्र सरकार से करती आई है।
 
Powered by Blogger.