Header Ads

नॉर्थ-ईस्ट के लोगों के लिए स्थापित होगी अलग पुलिस बल : गृह राज्यमंत्री

नई दिल्ली। देश में नॉर्थ-ईस्ट के छात्रों पर हमले होने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। नॉर्थ-ईस्ट के लोगों पर हो रहे हमले को लेकर गृह राज्यमंत्री रिजीजू ने गुड़गांव प्रशासन से मिले और नॉर्थ-ईस्ट के लोगों से मुलाकात की। साथ ही उनके लिए एक अलग हेल्पलाइन खोलने का भरोसा दिलाया और अलग पुलिस बल स्थापित करने की बात कही। इस मौके पर रिजीजू ने कहा कि ऐसे मामले में लोगों को खास कार्यक्रम के जरिए संवेदनशील बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि दो समुदायों के बीच झड़पें होती हैं। जब नॉर्थ-ईस्ट के लोग शामिल हों तो ये भेदभाव का मामला होता है।

 उन्होंने नॉर्थ-ईस्ट के लोगों को आश्वस्त किया कि हम अपने प्रयासों में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि नॉर्थ-ईस्ट के लोगों के लिए अलग हेल्पलाइन नंबर खोले जाएंगे और उनकी समस्या के समाधान के लिए अलग पुलिस बस स्थापित की जाएगी। गृहराज्यमंत्री रिजीजू ने कहा कि उन्होंने गुड़गांव प्रशासन से मुलाकात की और हालात का जायजा लिया। इस तरह की घटना कहीं भी हो, ये हमें दर्द देते हैं। पुलिस अपना काम कर रही है। आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। मालूम हो कि बेंगलुरु में मणिपुर के तीन छात्रों पर हुए कथित नस्लीय हमले के बाद गुरुवार को भी इससे मिलता-जुलता मामला दिल्ली से सटे गुड़गांव में सामने आया था। गुड़गांव में नगालैंड के दो लोगों की क्रिकेट बैट और हॉकी स्टिक से बेरहमी से पिटाई की गई थी। हमले में गंभीर चोटों के चलते बाद में उन्हें सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया।
Powered by Blogger.