Header Ads

पाकिस्तान की नापाक हरकत, सीमा पर फायरिंग में 5 लोगों की मौत

जम्मू। ईद-उल-जुहा से एक रात पहले पाकिस्तान ने हदें पार करते हुए रिहायशी इलाकों में जबरदस्त फायरिंग की, जिसमें पांच भारतीय नागरिकों की मौत हो गई और 35 जख्मी हो गए. जम्मू के अरनिया और आरएस पुरा सेक्टर में पाकिस्तानी रेंजरों ने रविवार रात भर शेलिंग और फायरिंग की. पाकिस्तान ने पिट्टल, चेनाज और नारायणपुर समेत 15 भारतीय चौकियों को भी निशाना बनाया. रिहायशी इलाकों में भी पाक रेंजरों ने शेलिंग और फायरिंग की. ईद को दखते हुए बीएसएफ के जवानों ने शुरू में धैर्य दिखाया, लेकिन जब पाकिस्तानी शेलिंग नहीं रुकी तो बीएसएफ ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया.खुफिया सूत्रों के मुताबिक, बीएसएफ की फायरिंग में पाकिस्तानी क्षेत्र में भी नुकसान हुआ है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक, चार पाकिस्तानी नागरिकों की मौत हो गई और करीब एक दर्जन घायल हो गए. 1 अक्टूबर से जम्मू एवं कश्मीर में भारत-पाकिस्तान सीमा पर संघर्ष विराम उल्लंघन की यह 11वीं घटना है. आपको बता दें कि पाकिस्तानी सेना ने नियंत्रण रेखा पर भारतीय मोर्चों पर रविवार दिन में भी गोलीबारी की. मेंढर सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से अकारण गोलीबारी सुबह 8 बजे शुरू हुई और आधे घंटे तक चली. इसकी पुष्टि रक्षा मंत्रालय ने भी की थी. पाकिस्तानी सैनिकों ने स्वचलित हथियारों और मोर्टारों का इस्तेमाल किया था. ज्यादातर भारतीय नागरिक इस गोलीबारी का उस वक्त शिकार हुए, जब गांवों में बिजली नहीं थी और वे अपने घरों की छतों पर सो रहे थे.

हाल के दिनों में अलग-अलग जगहों पर सीजफायर का उल्लंघन
नियंत्रण रेखा पर पुंछ जिले में संघर्ष विराम उल्लंघन की सात और जम्मू में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर तीन घटनाएं हो चुकी हैं. शनिवार को पाकिस्तान के रेंजरों ने जम्मू जिले के आर. एस. पुरा सेक्टर में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर भारतीय मोर्चो को मोर्टार से निशाना बनाया. शुक्रवार को पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर भारत की अग्रिम चौकियों पर की गई पाकिस्तानी गोलीबारी की चपेट में आने से 12 वर्ष की एक लड़की मर गई और पांच अन्य घायल हो गए. सेना ने कहा है कि उत्तरी कश्मीर के गुलमर्ग सेक्टर में भी शुक्रवार की रात संघर्ष विराम उल्लंघन की घटना घटी थी.

Powered by Blogger.