Header Ads

नेपाल और भारत के बीच सुरक्षा मामलो को लेकर वार्ता शुरू

काठमांडू : नेपाल और भारत के बीच सुरक्षा वार्ता रविवार को शुरू हुई. बैठक में नेपाल भारत से हथियारों और सैन्य साजो-सामान की आपूर्ति का अनुरोध कर सकता है. सुरक्षा मुद्दों पर नेपाल-भारत द्विपक्षीय परामर्श समूह की 11वीं बैठक नेपाली सेना के मुख्यालय में शुरू हुई. बैठक में नेपाल की ओर से भारत से सैन्य भंडार और उपकरणों एवं हथियारों की खरीद पर एक समझौता होने की उम्मीद है. नेपाली सेना ने एक बयान जारी कर कहा हैकि बैठक में प्रशिक्षण, संयुक्त अभ्यास, आतंकवादी कार्रवाई से मुकाबले के लिए सैनिक उपकरणों की खरीद और दोनों देशों की सेना के बीच सूचनाओं को साझा करने पर चर्चा होने की उम्मीद है.

सेना के लिए साजो-सामान केवल भारत से खरीदता है नेपाल
नेपाली विदेश मंत्रालय में भारत एवं दक्षिण एशिया के मामलों की देखरेख करने वाले संयुक्त सचिव अमृत राई 15 सदस्यीय नेपाली प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं, जबकि भारतीय विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव अभय ठाकुर भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं. नेपाल दशकों से अपने सैनिकों के लिए भारत से साजो-सामान खरीदता रहा है, लेकिन नेपाल के पूर्व नरेश ने 2005 में सभी लोकतांत्रिक अधिकार खत्म कर दिए थे जिससे नाराज भारत ने देश को सैनिक उपकरणों की आपूर्ति रोक दी थी.

माओवाद के दौर में रिश्ते पड़े थे ठंडे

वर्ष 2006 में नेपाल में लोकतंत्र बहाल होने के बाद नेपाल की सत्ताधारी राजनीतिक पार्टियों और नेपाल की एकीकृत कम्युनिस्ट पार्टी-माओवादी (यूसीपीएन-माओवादी) के बीच समग्र शांति समझौता हुआ जिसमें 13,000 माओवादी लड़ाकों के पुनर्वास होने तक सेना को घातक और गैर घातक हथियार खरीदने पर रोक लगाई गई. पिछले वर्ष लड़ाकों के पुनर्वास का काम पूरा हो जाने के बाद नेपाल सेना के लिए हथियार खरीद का रास्ता साफ हो गया.

Powered by Blogger.